Indian News

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के VC कैलाश चंद्र शर्मा का कार्यकाल खत्म, कुलसचिव डॉ. नीता खन्ना को सौंपी गई कमान

कुरुक्षेत्र. कुरुक्षेत्र विश्वविद्याल की कुलसचिव डा. नीता खन्ना को विश्वविद्यालय के कुलपति की कमान सौंपी गई है. हाल में कुरुक्षेत्र विश्वविद्याल के नियमित कुलपति प्रो. कैलाश चंद्र शर्मा का कार्यकाल समाप्त होने के बाद राज्यपाल सत्यादेव नारायण आर्य के आदेशानुसार डा. नीता खन्ना को यह अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,
आगामी आदेशों तक कुलसचिव डा. नीता खन्ना कुलपति का अतिरिक्त कार्यभार संभालेंगी।
बता दें कि कोरोना की वजह से देश भऱ में चल रहे लॉक डाउन के चलते माना जा रहा था कि प्रोफेसर शर्मा को तीन माह की एक्सटेंशन दिया जा सकता है. हालांकि हम में हरियाणा राजभवन से जारी हुए आदेश में कुलसचिव डा. नीता खन्ना को कुलपति का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है.

प्रोफेसर कैलाश चंद्र शर्मा ने चार वर्ष पहले 31 मार्च 2016 में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में बतौर कुलपति का कार्यभार संभाला था. 31 मार्च 2019 को कुलपति प्रो. केसी शर्मा को एक साल का सेवा विस्तार मिला था. 31 मार्च 2016 से अब तक उनके कार्य करने के तौर-तरीके चर्चा का विषय रहे.

चार वर्ष बाद उनके कार्यकाल में राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) द्वारा 30 अक्तूबर 2017 को विश्वविद्यालय को ए प्लस ग्रेड का दर्जा मिला, जिसकी वैधता 29 अक्तूबर 2022 तक है. इसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देशभर के स्वच्छता प्राप्त विश्वविद्यालयों की सूची में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने 8वां स्थान हासिल किया. वहीं नेशनल इंस्टीट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क के तहत केयू को 95वां रैंक मिला. राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) के तहत केयू को 100 करोड़ रुपये की ग्रांट मिली, जिसके तहत विश्वविद्यालय परिसर में तीन फरवरी 2019 को 5 रिसर्च केंद्र का डिजीटल उद्घाटन किया गया.

इनपुट- मीडिया रिपोर्ट

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: