Indian News

भारतीय विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करवा रहे चीन के विश्वविद्यालय, मगर डाटा खपत ज्‍यादा

हिसार. चीन के विश्वविद्यालयों से लौटे भारतीय विद्यार्थियों को वहां के विश्वविद्यालयों की ओर से ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है. चीन के विश्वविद्यालय भारतीय विद्यार्थियों से प्रतिदिन प्रोफोर्मा भरवाकर उनके स्वास्थ्य के साथ-साथ इंटरनेट के बारे में भी सवाल पूछ कर एक प्रोफोर्मा प्रतिदिन भरवाया जा रहा है. चीन के वेफांग विश्वविद्यालय से एमबीबीएस कर रहे पटेल नगर निवासी अखिल ने बताया कि चीन विश्वविद्यालय की ओर से प्रतिदिन मैसेज भेजकर उनसे ऑनलाइन क्लास अटेंड कर रहे हो या नहीं, आपके पास कौन सा सेलफोन है, आपका महीना का कुल वाईफाई का पैकेज कितना है आदि सवाल पूछ जाते है, इसके साथ ही पूछा जाता है इंटरनेट की स्थिति कैसी है वाईफाई यूज करते हो या ब्रॉडबैंड.

अखिल ने बताया कि वेफांग विश्वविद्यालय से टीचर्स अपने घर बैठे ऑनलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं. हमें भारत में प्रतिदिन 1.5 जीबी इंटरनेट मिलता है, लेकिन क्लासे अधिक होती है। जिसके चलते कई बार नेटवर्क रूक जाता या स्लो हो जाता है जिससे पढ़ाई में प्रॉब्लम होती है. इसके अलावा, स्वास्थ्य के बारे में प्रतिदिन वहां डेली रिपोर्ट भेजनी होती है. इसके साथ ही, कुछ सुझाव भी विद्यार्थियों से मांगे जा रहे है.

अखिल ने बताया कि वह चीन के वेफांग विश्वविद्यासलय से 17 जनवरी को लौटे थे. अखिल ने बताया कि उसके साथ सिरसा के दो लड़के भी लौटे थे, वहीं फरवरी में भी उसके बैच के 8 विद्यार्थी भारत लौटे थे. इनमें से गुजरात, उड़ीसा, दिल्ली से कई लोग लौटे थे. अखिल ने बताया वेफांग विश्वविद्यालय से ऑनलाइन क्लासेज चल रही है. वहां अभी तक छुट्टिया हैं. अखिल ने बताया कि परीक्षा भी ऑनलाइन करवाई जा सकती है.

अखिल ने बताया कि ऑनलाइन पढ़ाई से लैब व प्रैक्टिकल क्लासेज नहीं हो पा रही है. सुबह 8 से 10 और दोपहर 12 से 6 बजे तक क्लास लगाई जा रही है। हेल्थ मैनेजमेंट की क्लास भी लगवाई जा रही है। जिसमें कोविड-19 के बारे में भी पढ़ाया जा रहा है. चीन की ओर से एक एप पर इंटरनेशनल विद्यार्थियेां की मीटिंग भी ली जाएगी. अखिल ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से प्रतिदिन पूछा जाता है कि हम ठीक है या नहीं, हमें खांसी, जुकाम, बुखार तो नहीं है, हमारे एरिया में कोई कोरोना पॉजिटिव मरीज तो नहीं है, हमारे परिवार में कोई पॉजिटिव तो नहीं है आदि बातों की जानकारी प्रतिदिन देनी होती है.

साभार- दैनिक जागरण

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: