Indian News

नीट और जेईई परीक्षा को लेकर एचआरडी मंत्रालय ने बनाई समिति, जल्द रिपोर्ट देने को कहा

नई दिल्ली।

अभिभावकों की ओर से लगातार आ रहे अनुरोधों के मद्देनजर लिया गया फैसला, जेईई मेन 18 से 23 जुलाई व नीट 26 जुलाई को होनी है। जिसके मद्देनजर मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नीट और जेईई प्रवेश परीक्षाएं कराने को लेकर स्थिति की समीक्षा करने के लिए समिति गठित की है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के डीजी और अन्य विशेषज्ञों की ये समिति देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण मामलों के बीच स्थिति की समीक्षा करेगी और नीट और जेईई परीक्षा के आयोजन को लेकर कल तक अपनी सिफारिशें देगी।

मानव संसाधन विकास मंत्री ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, ‘मौजूदा स्थितियों और JEE एवं NEET परीक्षा दे रहे छात्र व उनके अभिभावकों की ओर से मिले अनुरोधों को ध्यान में रखते हुए एक समिति गठित की गई है जिसमें एनटीए के डीजी और अन्य एक्सपर्ट्स होंगे। ये समिति कल तक अपनी सिफारिशें पेश करेगी।

NEET , JEE Main 2020 परीक्षा टलने के आसार बढ़ें –

तमिलनाडु, महाराष्ट्र, नागालैंड, झारखंड, पश्चिम बंगाल व अन्य राज्यों में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ गया है। इन तमाम राज्यों के स्टूडेंट्स ने इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को टालने की मांग और तेज कर दी है। इसके अलावा केंद्र सरकार ने भी 1 जुलाई से लागू होने वाले अनलॉक 2 की गाइडलाइन जारी कर दी है। इसके मुताबिक 31 जुलाई तक मेट्रो तक बंद रहेगी और कंटेनमेंट जोन में सख्ती और बढ़ जाएगी।

छात्र ट्विटर पर हैश टैग का इस्तेमाल कर परीक्षा रद्द करने की लगा रहे गुहार

ट्विटर पर हैश टैग #PostponeNEETandJEE से ट्वीट और बढ़ गए हैं। छात्र लगातार मांग कर रहे कि कोरोना संक्रमण की स्थिति में छात्र के स्वास्थ्य को खतरे में नहीं डाला जा सकता। परीक्षा स्थगित होनी चाहिए। घोषणा में एनटीओ और मानव संसाधन विकास मंत्रालय को देरी नहीं करनी चाहिए। छात्र अपने ट्वीट में एचआरडी मंत्रालय, पीएमओ को टैग भी कर रहे हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: