Indian News

सीबीएसई के बाद नीट व जेईई के सिलेबस कम करने की हो रही तैयारी, ग्लोबल ई कैंपस ने विस्तार से बताई थी सभी बातें

नई दिल्ली।

सीबीएसई (CBSE) ने 9वीं से 12वीं तक के सिलेबस में 30 फीसदी तक की कटौती की है, तब से इस सिलेबस के आधार पर होने वाली परीक्षाओं को लेकर भी उलझन की स्थिति बन गई है। खासकर इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं जेईई (JEE) और नीट (NEET) को लेकर ऐसी स्थिति बानी हुयी है। इन सबके बीच जेईई एडवांस्ड (JEE Advanced) कराने वाले आईआईटीज (IIT) भी सिलेबस को एक्सपर्ट कमिटी के सामने समीक्षा के लिए रखने जा रहे हैं।

वहीं आईआईटी दिल्ली के निदेशक वी रामगोपाल राव ने कहा कि हमें सिलेबस के कंटेंट और उसमें हुए बदलावों का अवलोकन करना होगा। फिर इसे कमेटी और प्रश्नपत्र बनाने वालों के समक्ष प्रस्तुत रखना होगा। क्योंकि प्रश्नपत्र सेट करने से पहले ये समझना होगा कि कुछ टॉपिक्स अब सिलेबस का हिस्सा नहीं हैं। इस पर अभी चर्चा होनी जरूरी है।

इन मुद्दों पर NTA ने क्या कहा जाने –
जेईई मेन (JEE Main) कराने वाली संस्था नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के एक अधिकारी के अनुसार, ‘जब हमने अपने वर्तमान सिलेबस को सीबीएसई के बदले हुए सिलेबस से मिलाया, तो उसमें बड़ा अंतर पाया। स्टडेंट्स इन परीक्षाओं के लिए काफी पहले से तैयारी शुरू कर देते हैं। ऐसे में सिलेबस में हुए बदलावों को नजरअंदाज नहीं कर सकते। वहीं, एनटीए के महानिदेशक विनीत जोशी ने कहा कि ‘हम इस मामले को ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड (JAB) के पास ले जाएंगे।

गौरतलब है कि सीबीएसई ने कोरोना महामारी के कारण शैक्षणिक सत्र में हो रही देरी के कारण 9वीं से 12वीं तक के सिलेबस को 30 फीसदी तक कर करने का फैसला किया है। जो सिलेबस कम किए जा रहे हैं उसमें प्रमुख विषयों के कई महत्वपूर्ण टॉपिक्स शामिल हैं। हालांकि इस वर्ष होने वाले जेईई मेन व एडवांस्ड पर सीबीएसई सिलेबस बदलने का कोई असर नहीं होगा।

बताते चले की इस पुरे मुद्दे पर ग्लोबल ई कैंपस ने विस्तार से सभी बातें आपको बताई थी। 

यहां पढ़े – क्या नीट और जेईई का भी सिलेबस होगा कम, सीबीएसई के बाद उठ रहे सवाल

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: