Abroad News

किर्गिस्तान में फंसे 3000 छात्रों की मदद के लिए आगे आये सोनू सूद, जल्द लौटेंगे भारत

मुंबई। कोरोना काल में एक एक्टर रीयल हीरो बनकर देश के सामने आया, दूसरों की परेशानी को अपना समझा और हरसंभव मदद के लिए हाथ बढ़ाया। बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद आज हर किसी की जुबां पर चर्चा का विषय बने हुए हैं। महाराष्ट्र से हजारों प्रवासियों को उनके गांव-घर तक पहुंचाने के बाद एक बार फिर से सोनू नेक काम करने जा रहे हैं। सोनू के इस वादे से रूस के पास किर्गिस्तान में फंसे भारत के 3,000 छात्रों में झारखंड और बिहार के 20 मेडिकल छात्रों के लिए आखिरकार उम्मीद की किरण जगी है। झारखंड के छात्रों में से एक सद्दाम खान ने खुलासा किया कि बॉलीवुड स्टार सोनू सूद, बहरागोड़ा के पूर्व विधायक कुणाल सारंगी और सामाजिक कार्यकर्ता रेखा मिश्रा के प्रयासों का असर अब दिखने लगा है और वहां से वापसी की प्रक्रिया शुरू हो गई है।
मेडिकल छात्र सद्दाम ने ट्वीट कर कहा, हम किर्गिस्तान के एशियन मेडिकल इंस्टीट्यूट (एएमआई) में मेडिकल की डिग्री हासिल करने आए 3000 भारतीय छात्रों की मदद के सामूहिक प्रयास के लिए सोनू सूद, कुणाल सारंगी और रेखा मिश्रा को धन्यवाद देते हैं, जो वैश्विक महामारी कोविड -19 द्वारा सबसे अधिक प्रभावित कई देशों में से एक है। सद्दाम ने अपने ट्वीट में कहा, हमें बचाने और हमें निकालने की प्रक्रिया शुरू हो गई है और सोनू सूद ने हमें आश्वासन दिया है कि हमें अपनी भारत यात्रा के लिए कोई उड़ान शुल्क नहीं देना होगा।

यह भी पढ़े – भारतीय छात्रों के विदेशों में पढने के सपनों में कोरोना ने फेरा पानी

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, कुणाल सारंगी ने बताया कि उन्होंने झारखंड और बिहार के लगभग 20 सहित लगभग 3,000 भारतीय छात्रों की दुर्दशा पर ट्वीट किया था। उन्होंने इस ट्वीट को करते हुए विदेश मंत्रालय और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग करते हुए वीडियो भी शेयर किया था। इस वीडियो को देखने के बाद सोनी सूद ने उनसे संपर्क किया और छात्रों की वापसी के लिए प्रयास तेज किए।

सोनू सूद ने इन बच्चों की वापसी के लिए कई ट्वीट किए हैं. हाल ही में सोनू ने इन छात्रों के लिए ट्वीट में कहा, ‘जल्द ही आपको भारत में अपने घरों में वापस लाया जाएगा. भगवान हमारा मार्गदर्शन करेंगे और हमारे परिवारों की प्रार्थना का असर जरूर होगा।

आपको बता दें कि सोनू सूद ने इससे पहले भी न सिर्फ सड़कों पर उतरकर बल्कि सोशल मीडिया पर मदद मांग रहे लोगों के लिए सहायता पहुंचाते दिखे हैं। उन्होंने इस तरह कई लोगों को सुरक्षित उनके घर पहुंचाया है। बीते दिनों सोनू सूद की मदद से प्रभावित होकर एक प्रवासी मजदूर ने सोनू सूद के नाम पर अपनी वेल्डिंग शॉप खोली थी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: