Indian News

कर्नाटक सरकार का बड़ा फैसला, परीक्षा में कोरोना पॉजिटिव छात्र भी होंगे शामिल

नई दिल्ली।

यूजीसी ने रिवाइज्ड गाइडलाइंस जारी कर सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों से यह अनुरोध किया है कि वे अपने यहां के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं अनिवार्य रूप से कराये व सितंबर के अंत तक देश के सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं अनिवार्य रूप से करानी हैं। वहीं देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच कर्नाटक राज्य सरकार ने कोरोना पॉजिटिव अभ्यर्थियों को अन्य स्टूडेंट्स के साथ परीक्षा में शामिल होने की अनुमति देने का फैसला किया है। इस संबंध में सरकार ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) भी जारी कर दिया है।

बताते चलें कि यह फैसला कर्नाटक सरकार ने लिया है। अब तक निर्धारित शेड्यूल के अनुसार, राज्य में 30 और 31 जुलाई 2020 को होने जा रही परीक्षा कर्नाटक कॉमन एंट्रेंस एग्जाम (KCET 2020) के संबंध में यह एसओपी जारी किया गया है। छात्रों के स्वास्थ्य को सर्वोपरि बताते हुए सुरक्षा और स्वच्छता पर ध्यान देने को भी कहा गया है। आपको बता दे कि SOP में कहा गया है कि ‘कोरोना पॉजिटिव अभ्यर्थियों को भी यह ऑनलाइन परीक्षा (CBT) देने से रोका नहीं जाएगा।

ऐसे होंगी परक्षाएं –
इस एसओपी में परीक्षा के दौरान सुरक्षा मानकों के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने की भी बात कही गई है। जिसमें अभ्यर्थी को अपने कोविड-19 स्टेटस के बारे में अधिकारिकों को पहले से सूचना देनी होगी। ताकि उनके लिए खास इंतजाम किए जा सकें। अभ्यर्थियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा, जिसमें यह कहा गया हो कि वह पूरी तरह फिट है। अभ्यर्थियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए रिस्क कन्सेंट (इसमें हो सकने वाले खतरे के संबंध में सहमति) देनी होगी। ग्लव्स और N-95 मास्क पहनना अनिवार्य होगा। कोरोना पॉजिटिव स्टूडेंट्स को हॉस्पिटल से एग्जाम सेंटर तक 108 एंबुलेंस में लाया व पहुंचाया जाएगा। सभी परीक्षा केंद्रों पर एंबुलेंस और मेडिकल टीम मौजूद होगी। कोरोना पॉजिटिव स्टूडेंट्स के लिए परीक्षा केंद्रों पर अलग से रूम की व्यवस्था की जाएगी। जहां हर अभ्यर्थी के बीच कम से कम 3 फीट की दूरी रहेगी। परीक्षा के बाद उस जगह को 1% सोडियम हाइपोक्लोराइड के साथ डिसइन्फेक्ट किया जाएगा और सफाई होगी।

अन्य छात्रों का रखना होगा विशेष ध्यान –
कर्नाटक सरकार कोरोना पॉजिटिव अभ्यर्थियों को अन्य स्टूडेंट्स के साथ परीक्षा में शामिल होने की अनुमति देने का फैसला कर चुकी है, ऐसे में उन छात्रों का विशेष ध्यान रखना होगा जो कोरोना से ग्रसित न हो। इसके लिए राज्य सरकार ने एहतियात बरतने का निर्देश भी दिया है। लेकिन यह देखना होगा कि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कैसे और कितने इंतजाम किये जायेंगे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: