Indian News

छात्रवृत्ति घोटाले में छह शिक्षण संस्थान और 11 बिचौलियों पर मुकदमा दर्ज

जसपुर (उत्तराखंड)। छात्रवृत्ति घोटाले में जसपुर और काशीपुर में छह शिक्षण संस्थानों और 11 बिचौलियों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। इनमें जसपुर में सात मुकदमे दर्ज किए गए हैं। जसपुर में एसआईटी प्रभारी बीबी आर्य ने दर्ज कराए मुकदमों में कहा है कि गैर राज्यों में स्थित शैक्षणिक संस्थानों में अध्ययनरत रहकर समाज कल्याण विभाग से छात्रवृत्ति प्राप्त करने के मामले की जांच कर छात्र-छात्राओं से पूछताछ की गई।

विद्यार्थियों ने बताया कि चंद्रप्रकाश, कमलजीत सिंह निवासीगण भगवंतपुर, जोगिंदर सिंह निवासी ब्रह्मनगर (काशीपुर), दिग्विजय सिंह निवासी मंडुआखेडा हाल निवासी पंजाबी कॉलोनी जसपुर, सत्येंद्र कुमार निवासी नत्था सिंह, आशीष राज उर्फ बिट्टू, सचिन निवासी संन्यासोवाला, ओमकार निवासी मैसूवाला, महिपाल निवासी भागियावाला (ठाकुरद्वारा) और रजनीश निवासी शामली ने नामधारी कॉलेज सुंदरनगर मंडी हिमाचल प्रदेश, डीसीएस कॉलेज महमूदनगर गोहाना सोनीपत हरियाणा, धामपुर लॉ कालेज धामपुर बिजनौर, किशन इंस्टीट्यूट मेरठ, शामली इंस्टीट्यूट मुज्जफरनगर के साथ मिलकर छात्रों के फर्जी दस्तावेज तैयार किए।

इसके बाद एलएलबी, बीएड और बीटेक में प्रवेश दिखाकर छात्रवृत्ति आवंटित कराकर सरकार के लाखों रुपये हड़प लिए। कोतवाल एनबी भट्ट ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
उधर, काशीपुर में एसआईटी निरीक्षक जीबी जोशी ने दर्ज कराए मुकदमे में कहा कि प्रथमदृष्टया जांच से जोधपुर नेशनल यूनिवर्सिटी मेन कांप्लेक्स जोधपुर (राजस्थान) शिक्षण संस्थान में अध्ययनरत दो विद्यार्थियों का भौतिक सत्यापन किया। जांच में एक छात्रा ने बताया कि उसने उक्त संस्थान में प्रवेश नहीं लिया।

यह भी पढ़ें –  सुप्रीम कोर्ट ने UGC को जवाब दाखिल करने का दिया निर्देश, 31 जुलाई को सुनवाई

 

उसके शिक्षा संबंधी प्रमाण पत्र प्रवेश के लिए दिग्विजय सिंह निवासी पंजाबी कॉलोनी जसपुर ने लिए थे। दूसरे छात्र के भी शैक्षिक प्रमाण पत्र लिए गए थे। दिग्विजय ने उपरोक्त विद्यार्थियों को धोखे में रखकर उक्त संस्थान के स्वामी, प्रबंधक, अधिकारी-कर्मचारी के साथ मिलकर फर्जी तरीके से प्रवेश दिखाकर कुल एक लाख 16 हजार रुपये की छात्रवृत्ति हड़प ली। पुलिस ने शैक्षिक संस्थान और दलाल के खिलाफ धोखाधड़ी और अन्य धाराओं में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

नानकमत्ता में भी एक संस्थान और दलाल पर मुकदमा 

दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले में पुलिस ने एसआईटी की तहरीर पर सितारगंज क्षेत्र के एक दलाल और यूपी के गजरौला स्थित एक शिक्षण संस्थान के प्रबंधक एवं कर्मचारियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है।

एसआईटी के इंस्पेक्टर एनएन पंत की तहरीर पर पुलिस ने सितारगंज के ग्राम करघटिया निवासी मोहन सिंह और यूपी के थाना गजरौला जिला अमरोहा स्थित मां गायत्री इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी के प्रबंधकों एवं कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। तहरीर में बताया गया कि मोहन सिंह के जरिये संस्थान ने नानकमत्ता क्षेत्र के 10 विद्यार्थियों, सितारगंज के दो विद्यार्थियों और खटीमा के एक विद्यार्थी के नाम पर छात्रवृत्ति घोटाला किया है।

थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट ने बताया कि तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 120बी और 406 के तहत आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच एसआई अवनीश कुमार को सौंपी गई है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: