Indian News

MIT में कल से शुरू होगी अगले सत्र की ऑनलाइन पढ़ाई, जानिए समय सारिणी

मुजफ्फरपुर। एमआइटी मुजफ्फरपुर में विद्यार्थियों को अगले सत्र में प्रमोट करने के बाद आगत सेमेस्टर की पढ़ाई कल से शुरू हो जाएगी। इसको लेकर कॉलेज प्रशासन की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई है। प्राचार्य की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि मैकेनिकल, आइटी, इलेक्ट्रिकल, बी-फॉर्मा समेत अन्य सभी संकाय के सेमेस्टर तीन, पांच और सात के विद्यार्थियों की ऑनलाइन कक्षाएं एक अगस्त से शुरू हो रही हैं। वहीं इंजीनियरिंग कॉलेज समस्तीपुर के विद्यार्थियों की कक्षाएं भी ऑनलाइन संचालित की जाएगी।

ऐसे में विद्यार्थियों के लिए समय सारिणी भी जारी कर दी गई है ऑनलाइन कक्षाएं सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक अलग-अलग शिफ्ट में संचालित की जाएंगी। किस समय में कौन शिक्षक कक्षाएं देंगे इसका शिड्यूल तैयार कर लिया गया है। साथ ही शिक्षकों को भी इसको लेकर निर्देश दिया गया है। इसमें कहा गया है कि यदि स्थिति सामान्य नहीं हुई तो ऑनलाइन की सिलेबस पूरा कराना होगा। ऐसे में शिक्षक और विद्यार्थी दोनों को तत्पर रहना होगा।

अंतिम सेमेस्टर के विद्यार्थियों को परीक्षा का इंतजार

एक ओर अगले सेमेस्टर की परीक्षा शुरू हो रही है वहीं इंजीनियरिंग कॉलेजों के फाइनल इयर के विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। विद्यार्थियों ने बताया कि ऑनलाइन ही परीक्षाओं का आयोजन कर रिजल्ट जारी कर देना चाहिए। जबकि, परीक्षा के संबंध में अबतक विभाग या एकेयू की ओर से कोई अधिसूचना जारी नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें – ITI और पॉलीटेक्निक संस्थानों के छात्र-छात्राओं को अब को एक ही पोर्टल पर मिलेगी सारी सुविधाएं

पीएचडी कोर्स वर्क ऑनलाइन शुरू करने की मांग

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में पीएचडी कोर्स वर्क ऑनलाइन शुरू करने की मांग होने लगी है। शोधार्थियों ने कहा कि चार महीने से अधिक समय बीत गया है। ऐसे में यदि कोर्स वर्क शुरू नहीं किया गया तो इससे शोध कार्य भी प्रभावित होगा। छात्र नेता सह पीएचडी के शोधार्थी गोल्डेन सिंह ने कहा कि इस संबंध में विवि के अधिकारियों से भी बात की गई है। लेकिन, वे पीएचडी कोर्स वर्क के लिए सभी शोधार्थियों के नामांकन नहीं लेने का हवाला दे रहे हैं। जबकि, 80 फीसद से अधिक विद्यार्थियों ने आवेदन ले लिया है। अगर शोधार्थियों ने नामांकन नहीं लिया है। तो ऐसे में उनके लिए ऑनलाइन नामांकन लेने की व्यवस्था विकसित करने की जरूरत है ताकि अन्य शोधार्थियों पर इसका असर नहीं पड़े।

इधर, अन्य शोधार्थियों का कहना है कि पटना विवि और वीकेएसयू आरा में कोर्स वर्क ऑनलाइन शुरू कर दिया गया है। ऐसे में बिहार विवि को भी ऑनलाइन कोर्सवर्क शुरू करने पर विचार करना चाहिए। बता दें कि इससे पहले इतिहास विभागाध्यक्ष समेत अन्य शिक्षकों ने भी इसको लेकर पहल की थी। लेकिन, विवि की ओर से इसपर कोई कवायद नहीं हुई। अब विवि की ओर से स्थिति सामान्य होने और नामांकन होने के बाद ही कोर्स वर्क शुरू करने की बात कही जा रही है। बता दें कि अगले सत्र के लिए भी प्रीपीएचडी टेस्ट होना है। ऐसे में कोर्स वर्क शुरू करना जरूरी है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: