Indian NewsMedical College
Trending

नीट परीक्षा आज, परीक्षा के मद्देनजर राज्यों ने प्रतिबंधों के साथ परिवहन में दी है ढील

नई दिल्ली।

कोरोना वायरस महामारी के कारण देशभर में सभी परीक्षाएं विलम्ब से हो रही है। पहले जेईई और अब नीट की परीक्षाओं का आयोजन देश भर में किया गया है। वहीं इन परीक्षाओं का लगातार विरोध भी हो रहा है। ऐसे में देशभर में 13 सितंबर यानी आज मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) आयोजित की गयी है। नीट परीक्षा के मद्देनजर राज्यों ने कोरोना वायरस प्रतिबंधों के साथ परिवहन में भी ढील दी है। कोरोना महामारी के बीच नीट परीक्षा के आयोजन पर कुछ छात्रों और विपक्षी शासित राज्यों द्वारा चुनौती दी गई थी। उन्होंने कहा था कि इस समय इन परीक्षाओं को आयोजित करने से छात्रों का जीवन खतरे में पड़ सकता है। बता दें कि पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट में नीट और जेईई परीक्षा को टालने की याचिका दायर की गई थी। परन्तु कोर्ट ने परीक्षाओं के आयोजन को मंजूरी दे दी थी। जिसके तहत देशभर में पहले जेईई और अब नीट की परीक्षा आयोजित की जा रही है।

शिक्षामंत्री ने छात्रों को दी बधाई –
शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल ने 13 सितंबर को नीट परीक्षा 2020 का हिस्सा बन रहे छात्रों को सोशल मीडिया पर बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर यह बधाई प्रेषित की है।

नीट परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक –
बताते चलें कि नीट परीक्षा के लिए इस बार करीब 16 लाख छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। कोरोना वायरस महामारी के कारण एनटीए ने कुछ उम्मीदवारों के परीक्षा केंद्र बदल दिए हैं। जिन उम्मीदवारों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए परीक्षा केंद्रों को बदल दिया गया है उन्हें मैसेज, ईमेल या फोन के जरिए सूचित किया गया है। नीट परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक होगी।

केंद्रों की संख्या 2,846 से बढ़ाकर 3,843 की गयी –
वहीं एनटीए की ओर से कोविड-19 महामारी के बीच में नीट परीक्षा 2020 को सुनिश्चित ढंग से कराने के लिए सुरक्षा के इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर एनटीए की ओर से परीक्षा केंद्रों की संख्या 2,846 से बढ़ाकर 3,843 कर दिए गए हैं।

परीक्षा के लिए कई प्रभावी कदम उठाए गए –
नीट परीक्षा के आयोजन में कोरोना से बचाव के लिए एनटीए की तरफ से कई प्रभावी कदम उठाए गए हैं। इसके तहत सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए एक परीक्षा केंद्र पर एक समय में 90 अभ्यर्थी ही प्रवेश करेंगे। परीक्षा खत्म होने के बाद 24-24 अभ्यर्थियों के ग्रुपों में बाहर लाया जाएगा। इन 24 अभ्यर्थियों को दो पर्यवेक्षक गॉर्ड करते हुए बाहर लेकर आएंगे। पर्यवेक्षकों के दोबारा परीक्षा कक्ष पहुंचने पर ही दूसरे 24 अभ्यर्थी बाहर निकलेंगे। वहीं परीक्षा शुरू होने से पूर्व केंद्र पर पहुंचने पर प्रत्येक अभ्यर्थी को सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा। इसमें अभ्यर्थी को बताना होगा कि उसमें कोरेाना संबंधी लक्षण नहीं है और वह किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में नहीं आया है।

रेलवे चला रहा स्पेशल ट्रेन –
बताते चलें कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा (नीट) में हिस्सा लेने वाले परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए रेलवे परीक्षा स्पेशल ट्रेन चलाएगा। स्पेशल ट्रेनों में यात्रा के लिए टिकट प्लेटफार्म पर लगी मशीन से मिलेंगे। परीक्षार्थियों को टिकट लेने के पहले प्रवेश पत्र दिखाना होगा। परीक्षार्थी के साथ परिजनों को भी यात्रा की अनुमति होगी। अभ्यर्थियों को यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: