Indian News

उच्च शिक्षा से दिनभर की बड़ी खबरें (स्कॉलरशिप विशेष)

मेधावी विद्यार्थी को उच्च शिक्षा के लिए स्कॉलरशिप देगा मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन

नई दिल्ली।

मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु मेधावी विद्यार्थियों स्कॉलरशिप आयोजित कर रहा है। इसके तहत 2020 में 12वीं कक्षा से 78 फीसद से अधिक अंक हासिल करने वाले विद्यार्थियों को मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन की तरफ से स्कॉलरशिप दी जाएगी जिसके लेकर आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर तय की गई है। स्कॉलरशिप पाने के लिए छात्र नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर आ‌वेदन कर सकेंगे।

स्काॅलरशिप से जुड़े संदेश रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर –
इसके तहत तय मानकों को पूरा करने के बाद विद्यार्थियों के बैंक खातों में स्कॉलरशिप आएगी। मिनिस्ट्री ने विद्यार्थियों से अपील की है कि उनकी तरफ से जो भी मोबाइल नंबर आवेदन प्रक्रिया के दौरान भरा जाता है, उसे सदैव चालू रखें क्योंकि स्काॅलरशिप से जुड़े संदेश उन्हें रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही आएंगे।

यहां पढ़ें – यूपीपीएससी बीईओ प्रारंभिक परीक्षा 2019 का परिणाम घोषित, वेबसाइट पर चेक करें रिजल्ट

खाता नंबर के साथ आधार नंबर लिंक होना जरुरी –
पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड ने स्काॅलरशिप को लेकर राज्य भर के जिला शिक्षा अधिकारियों और सभी जिलों के बोर्ड मैनेजरों को पत्र लिखकर हिदायतें जारी कर दी हैं। https://scholarships.gov.in/ पर विद्यार्थी ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। विद्यार्थियों की तरफ से दिए गए खाता नंबर के साथ आधार नंबर लिंक होना चाहिए। जिला शिक्षा अधिकारियों द्वारा स्कूल मुखियों को इस स्कॉलरशिप का लाभ विद्यार्थियों को दिलाने के लिए ऑनलाइन मोड के जरिए जागरूक किया जाना शुरू कर दिया है। ताकि विद्यार्थी इस महामारी में आई आर्थिक तंगी की वजह से बच्चों की पढ़ाई न छुड़वा दें और इस स्कीम का लाभ लेकर बच्चे कॉलेज व यूनिवर्सिटी स्तर में पढ़ाई के क्रम को जारी रखें।

वापस लौटानी नहीं पड़ती छात्रवृत्ति में मिली राशि –
किसी विद्यार्थी को अपनी शिक्षा पूरी करने हेतु दी गयी आर्थिक सहायता छात्रवृत्ति (scholarship) कहलाती है। छात्रवृत्ति प्रदान करने के अनेक आधार होते हैं, जैसे- मेधावी छात्र, निर्धन छात्र, आदि। छात्रवृत्ति में मिली राशि वापस लौटानी नहीं पड़ती हैं। छात्रवृत्ति देने के लिए सरकार विभिन्न पॉलिसी लेकर आती है जिसके अन्तर्गत छात्र देश ही नहीं बल्कि विदेश के कॉलेज मे भी शिक्षा ग्रहण कर सकते है।

Bihar CET-B.Ed प्रवेश परीक्षा का परिणाम हुआ घोषित, सफल हुए परीक्षार्थियों का ये रहा प्रतिशत

पटना।

बिहार सीईटी बीएड (Bihar CET-B.Ed) प्रवेश परीक्षा 2020 का परिणाम जारी कर दिया गया। पत्रकार वार्ता में परीक्षा के स्टेट नोडल ऑफिसर प्रो. अजीत कुमार सिंह ने कहा कि परीक्षा में 96.6 प्रतिशत परीक्षार्थी हुए सफल हुए हैं। सभी छात्रों में पटना का सोनू कुमार और छात्रा में अरवल की ज्योति कुमारी टॉपर बनी है। बता दें कि इस परीक्षा में कुल 94676 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इनमें से 91495 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं।

यहां पढ़ें – इग्नू जून टीईई परीक्षा का परिणाम हुआ घोषित, ignou.ac.in वेबसाइट पर करे चेक

सीटें खाली रहने पर दो बार और मेरिट लिस्ट होगी जारी –
बताते चलें कि पहले 30 सितंबर को परीक्षा परिणाम जारी करना सुनिश्चित हुआ था। अब स्टेट नोडल ऑफिसर प्रो. सिंह ने बताया कि नामांकन के लिए आगामी 03 अक्टूबर से 23 नवंबर तक काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी। जहां छात्रों को अपने कॉलेज का ऑप्शन चुनना होगा। च्वाइस के आधार पर मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी। कॉलेज जिस विश्वविद्यालय से संबद्ध होगा, वहां छात्रों के प्रमाणपत्र की जांच होगी। संबंधित विश्वविद्यालय की ओर से अग्रसारित करने के बाद छात्र को अपने कॉलेज में जाकर एडमिशन कराना होगा। इन तीन चरणों के बाद एडमिशन पूरा होगा। सीटें खाली रहने पर दो बार और मेरिट लिस्ट जारी होगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: