Indian News

उच्च शिक्षा से दिनभर की बड़ी खबरें (एडमिशन विशेष)

आज से शुरू हुयी जामिया मिल्लिया इस्लामिया की प्रवेश परीक्षा, देशभर मे बनाए गए परीक्षा केंद्र

Jamia Millia Islamia Distance Admission Process From Next Week

नई दिल्ली।

जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में यूजी, पीजी, एमफिल और पीएचडी जैसे कोर्सेज में दाखिले के लिए आज 10 अक्टूबर से जामिया मिल्लिया इस्लामिया एंट्रेंस एग्जाम शुरू हुए। यह परीक्षा ऑफलाइन हुयी और देश भर में इसके लिए केंद्र बनाए गए। जेएमआई प्रवेश परीक्षा की तारीखों के अनुसार, विश्वविद्यालय में प्रवेश परीक्षा 10 अक्टूबर से 22 नवंबर के बीच आयोजित की जाएगी। विश्वविद्यालय ने विभिन्न कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए अलग-अलग जेएमआई प्रवेश परीक्षा की तिथियां अलॉट की हैं। इसके मुताबिक परीक्षाएं कराई जाएंगी।

सभी नियमों को ध्यान से पढ़ें –
परीक्षा देने वाले उम्मीदवार अपने JMI प्रवेश परीक्षा के प्रवेश पत्र ऑफिशियल पोर्टल jmicoe.in पर डाउनलोड कर सकते हैं। उम्मीदवार ध्यान दें कि JMI प्रवेश परीक्षा के एडमिट कार्ड में उम्मीदवारों के नाम, पंजीकरण संख्या, जामिया प्रवेश परीक्षा केंद्र और COVID-19 संबंधित परीक्षा के दिन के दिशानिर्देश शामिल हैं। इन सभी नियमों को ध्यान से पढ़ें, क्योंकि अगर किसी भी नियम की अनदेखी कोरोनाकाल में की जाती है तो परीक्षा देने से छात्र-छात्राएं वंचित रह सकती हैं। इसलिए उम्मीदवार ध्यान रखें कि बिना फेस मास्क के किसी भी उम्मीदवार को परीक्षा केंद्र के भीतर प्रवेश नहीं मिलेगा। उम्मीदवार ध्यान दें कि जामिया प्रवेश परीक्षा परीक्षा के दिन कुछ दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।

तमाम कुर्बानियाँ देकर जामिया का निर्माण किया –
जामिया मिल्लिया इस्लामिया संयुक्त प्रांत, भारत के अलीगढ़ में मूल रूप से 1920 में एक संस्था के रूप में स्थापित किया गया। 1988 में भारतीय संसद के अधिनियम द्वारा एक केंद्रीय विश्वविद्यालय बना। उर्दू भाषा, में जामिया का अर्थ है विश्वविद्यालय, और मिल्लिया का अर्थ है ‘राष्ट्रीय‘। आजादी के पूर्व नई दिल्ली में स्थित एक छोटी सी संस्था से केन्द्रीय विश्वविद्यालय तक इसके विकास की कहानी – नर्सरी से एकीकृत शिक्षा में विशेष क्षेत्रों में अनुसंधान के लिए प्रस्तुत – लोगों के समर्पण,  दृढ़ विश्वास की गाथा है, जो सभी बाधाओं को पार करते हुए कदम बढ़ाते रहे। भारत कोकिला सरोजिनी नायडू‘ के अनुसार उन्होने ”तिनका-तिनका जोड़कर और तमाम कुर्बानियाँ देकर जामिया का निर्माण किया।”

इलाहाबाद विश्वविद्यालय मे 20 अक्टूबर से शुरू हो रहे ऑनलाइन एडमिशन

100 crore infrastructure boost on cards for Allahabad University - education - Hindustan Times

लखनऊ।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के नए सत्र 2020 में दाखिला शुरू होने जा रहे है। यह प्रक्रिया 20 अक्टूबर से ऑनलाइन शुरू होने की उम्मीद है। प्रवेश प्रकोष्ठ ने ऑनलाइन दाखिले के लिए एजेंसी का टेंडर जारी कर दिया है। यूजीएटी का रिजल्ट 15 अक्तूबर तक जारी कर दिया जाएगा। बता दें कि विवि ने स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए 25 मार्च से ऑनलाइन आवेदन शुरू कर दिए थे जिसके बाद छात्रों ने इसका काफि विरोध किया था। विरोध के बाद आवेदन स्थगित कर दिया गया था। दोबारा 10 अप्रैल से आवेदन शुरू हुआ था। इसके बाद ऑफलाइन एवं ऑनलाइन (दोनों मोड में) प्रवेश परीक्षा 26 सितंबर से 5 अक्तूबर के मध्य आयोजित हो गई है।

नए सत्र में दाखिले के लिए ऑनलाइन प्रवेश –
इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन 20 अक्तूबर से ऑनलाइन दाखिला शुरू करने की तैयारी कर रहा है। ऑनलाइन प्रवेश के लिए प्रवेश प्रकोष्ठ ने आवेदकों से इस बार आवेदन में ही दस विषयों का विकल्प भरवा लिया है ताकि दाखिले के वक्त किसी प्रकार की परेशानी न आए। लॉकडाउन के मानकों के पालन और छात्रों व उनके अभिभावकों को राहत देने के उद्देश्य से इविवि प्रशासन ने ऑनलाइन प्रवेश की तैयारी शुरू कर दी है। प्रवेश प्रकोष्ठ के निदेशक प्रो. प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि नए सत्र में दाखिले के लिए ऑनलाइन प्रवेश होगा। 15 को यूजीएटी का रिजल्ट जारी किया जाएगा। इसके बाद 20 से ऑनलाइन प्रवेश शुरू होगा।

एडमिशन में पहले ही देरी हुयी –
हालांकि कोरोना महामारी के चलते एडमिशन में पहले ही देरी हो गई है। इस बार कुछ विश्वविद्यालयों ने बिना अंतिम वर्ष की परीक्षा लिए ही छात्रों को प्रमोट कर दिया तो वहीं प्रथम वर्ष का एडमिशन भी मेरिट के आधार पर हो गया है और कुछ विश्वविद्यालयों मे यह प्रकिया अभी जारी है। यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों को 1 नवम्बर से नया सत्र शुरू करने को कहा है ताकि पढ़ाई मे और नुकसान न हो।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: