University/Central University

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में 1 नवंबर से होंगी यूजी व पीजी कोर्स की प्रवेश परीक्षाएं

लखनऊ।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय मे 1 नवंबर से विभिन्न ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए एएमयू प्रवेश परीक्षा 2020 का शेड्यूल जारी किया है। विश्वविद्यालय ने यूजी और पीजी प्रवेश परीक्षाओं की तारीख में बदलाव करते हुए पूरा शेड्यूल जारी किया है। पहले यूजी व पीजी प्रवेश परीक्षाएं 22 नवंबर से शुरू होने वाली थी, लेकिन अब यूजी व पीजी एंट्रेंस एग्जाम की शुरुआत 1 नवंबर से होगी। इससे पहले विश्वविद्यालय ने छात्रों को एक अक्तूबर से लेकर 7 अक्तूबर तक परीक्षा केंद्रों में बदलाव की सुविधा भी दी थी।

शेड्यूल आधिकारिक वेबसाइट पर देख सकते हैं –
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्नातक और स्नातकोत्तर प्रवेश परीक्षाएं अब 1 नवंबर से 5 दिसंबर के बीच आयोजित की जाएंगी। परीक्षा का नया शेड्यूल अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर देख सकते हैं। इन प्रवेश परीक्षाओं के लिए यूनिवर्सिटी परीक्षाओं से दो दिन पहले प्रवेश पत्र जारी करेगी। ये सभी प्रवेश परीक्षाएं ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाएंगी। इसी तरह विश्वविद्यालय ने डिपार्टमेंटल टेस्ट कोर्स की तारीखों में भी बदलाव किया है। अब एएमयू डिपार्टमेंट कोर्स केवल अलीगढ़ में ही आयोजित किया जाएगा। परीक्षाओं और प्रवेश पत्र संबंधी जानकारी के लिए अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट  amucontrollerexams.com पर विजिट कर सकते है।

यहां पढ़ें – दिल्ली विश्वविद्यालय और सम्बद्ध कॉलेजों की पहली कट ऑफ लिस्ट जारी

अधिनियम के माध्यम से केन्द्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा –
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय भारत के प्रमुख केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में से एक है जो उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में स्थित है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय एक आवासीय शैक्षणिक संस्थान है। इसकी स्थापना 1920 में सर सैयद अहमद खान द्वारा की गई थी और 1921 में भारतीय संसद के एक अधिनियम के माध्यम से केन्द्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया। कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय की तर्ज पर ब्रिटिश राज के समय बनाया गया पहला उच्च शिक्षण संस्थान था। मूलतः यह मुस्लिम एंग्लो ओरिएंटल कालेज था, जिसे महान मुस्लिम समाज सुधारक सर सैयद अहमद खान द्वारा स्थापित किया गया था। कई प्रमुख मुस्लिम नेताओं, उर्दू लेखकों और उपमहाद्वीप के विद्वानों ने विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की है।

पाठ्यक्रमों में सार्क और राष्ट्रमंडल देशों के छात्रों के लिए सीटें आरक्षित –
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में शिक्षा के पारंपरिक और आधुनिक शाखा में 250 से अधिक पाठ्यक्रम पढ़ाए जाते हैं। अपने समय के महान समाज सुधारक सर सैयद अहमद खान ने आधुनिक शिक्षा की आवश्यकता को महसूस किया और 1875 में एक स्कूल शुरू किया, जो बाद में मुस्लिम एंग्लो ओरिएंटल कालेज और अंततः 1920 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय बना। कई विभागों और स्थापित संस्थानों के साथ यह प्रमुख केन्द्रीय विश्वविद्यालय दुनिया के सभी कोनों से, विशेष रूप से अफ्रीका, पश्चिमी एशिया और दक्षिणी पूर्व एशिया के छात्रों को आकर्षित करता है। कुछ पाठ्यक्रमों में सार्क और राष्ट्रमंडल देशों के छात्रों के लिए सीटें आरक्षित हैं। विश्वविद्यालय सभी जाति, पंथ, धर्म या लिंग के छात्रों के लिए खुला है।

उत्तराखंड स्पेशल सबऑर्डिनेट एजुकेशन सर्विस एग्जाम 2020 के लिए 11 नवंबर तक करें आवेदन

देहरादून।

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने उत्तराखंड स्पेशल सबऑर्डिनेट एजुकेशन सर्विस एग्जाम 2020 के लिए एक नोटिस जारी किया जिसके मुताबिक इस भर्ती परीक्षा के माध्यम से लेक्चरर के कुल 571 पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी। उम्मीदवार ध्यान दें कि उत्तराखंड स्पेशल सबऑर्डिनेट एजुकेशन सर्विस लेक्चरर के पदों पर आयोजित होने वाली परीक्षा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू होने वाले हैं। ऐसे में इस परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार आधिकारिक पोर्टल ukpsc.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को 11 नवंबर 2020 या उससे पहले रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। हालांकि दस्तावेजों के साथ लेक्चचर की हार्ड कॉपी आवेदन कॉपी जमा करने की अंतिम तिथि 16 नवंबर 2020 है।

पूरी खबर पढ़े यहां

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: