Indian News
Trending

रेल मंत्रालय ने निकाली टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ की भर्तियां, 10 नवंबर तक कर सकेंगे आवेदन

नई दिल्ली।

रेल मंत्रालय ने नेशनल रेल एंड ट्रांसपोर्टेशन इंस्टीट्यूट (एनआरटीआई) में टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ की भर्तियां निकाली हैं। टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ के कुल पदों की संख्या 39 है। इच्छुक उम्मीदवार इन पदों के लिए 10 नवंबर तक nrti.edu.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

पदों का ब्योरा –
प्रोफेसर – 5
एसोसिएट प्रोफेसर – 10
असिस्टेंट प्रोफेसर – 15
डिप्टी फाइनेंस ऑफिसर – 1
जूनियर अकाउंट्स ऑफिसर – 1
असिस्टेंट लाइब्रेरियन – 1
असिस्टेंट रजिस्टरार – 2
एडमिनिस्ट्रेटिव असिस्टेंट – 2
जूनियर असिस्टेंट – 2

विभिन्न पदों के लिए आवश्यक योग्यता –
जूनियर अकाउंट्स ऑफिसर –
– कम से कम 55 फीसदी अंकों के साथ मास्टर डिग्री

असिस्टेंट रजिस्टरार –
– कम से कम 55 फीसदी अंकों के साथ मास्टर डिग्री

एडमिनिस्टरेटिव असिस्टेंट –
– कम से कम 55 फीसदी अंकों के साथ बैचलर डिग्री

जूनियर असिस्टेंट –
– कम से कम 55 फीसदी अंकों के साथ बैचलर डिग्री

सभी पदों की शैक्षणिक व अनुभव संबंधी योग्यता की विस्तृत डिटेल के लिए पूरा वेबसाइट पर पूरा नोटिस चेक कर सकते है।

10 कोर्स चलाने का ऐलान किया है –
बता दें कि राष्ट्रीय रेल एवं परिवहन संस्थान (NRTI), को वडोदरा में रेल मंत्रालय की ओर से बनाया गया है। रेलवे की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए इस यूनिवर्सिटी को बनाया गया है। राष्ट्रीय रेल और परिवहन संस्थान ने एकेडमिक इयर 2020-21 के लिए 10 कोर्स चलाने का ऐलान किया है। 10 में से 8 कोर्स नए शुरू किए गए हैं। इनमें से अधिकांश प्रोग्राम अनूठे हैं जिन्हें एनआरटीआई ने खास फीसर्च के साथ पेश किया गया है। इन कोर्सों को करने के बाद कैंडिडेट्स को प्लेसमेंट में काफी आसनी होगी।

छात्र वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं –
संस्थान की ओर से शुरू किए गए बीबीए, बीएससी और पोस्टग्रेजुएट प्रोग्रामों के लिए अप्लाई करने की आखिरी तिथि 31 जुलाई है, बीटेक में एडमीशन जेईई मेन्स में मिलने वाले नम्बरों के आधार पर होंगे। जिसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 14 सितंबर, 2020 थी। इससे जुड़ी अधिक जानकारी के लिए छात्र www.nrti.edu.in वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं।

डीयू मे एडमिशन के लिए हाई कट ऑफ रखने के खिलाफ छात्र संगठनों ने किया विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली।

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) और संबंधित कॉलेजों ने यूजी कोर्सेज के लिए मेरिट लिस्ट जारी कर दी है। डीयू द्वारा स्नातक पाठ्यक्रमों ( यूजी कोर्सेज ) में प्रवेश के लिए ऊंचा कट-ऑफ रखने के विरोध में छात्र संगठनों ने सोमवार को विश्वविद्यालय प्रशासन के विरोध में यहां प्रदर्शन किया। क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) और वाम-समर्थित स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। संगठनों ने आरोप लगाया कि ऊंचा कट-ऑफ रखने से बड़े निजी स्कूलों के छात्रों को लाभ होता है। उन्होंने कहा कि प्रवेश प्रक्रिया में अधिक पारदर्शिता बरतने की आवश्यकता है।

कट-ऑफ सूची का पुतला फूंका और इसे समाप्त करने की मांग की –
दिल्ली विश्वविद्यालय ने शनिवार को स्नातक प्रवेश की पहली कट-ऑफ सूची जारी की थी जिसमें महिलाओं के लेडी श्रीराम कालेज में ऑनर्स विषयों के तीन पाठ्यक्रमों के लिए प्राप्तांक की सीमा सौ प्रतिशत तय की गई थी। स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सौ प्रतिशत प्राप्तांक की सीमा पांच साल के अंतराल के बाद तय की गई है। केवाईएस की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया कि संगठन के कार्यकर्ताओं ने भेदभाव प्रदर्शित करने वाली कट-ऑफ सूची का पुतला फूंका और इसे समाप्त करने की मांग की।

उन्होंने कहा, “बड़े निजी स्कूलों के छात्रों द्वारा प्राप्तांक के आधार पर यह कट ऑफ निर्धारित किया गया है जिससे समाज के हाशिये पर पड़े वर्ग के छात्रों को स्तरीय उच्च शिक्षा से वंचित रखा जा सके। यह इसलिए किया गया है ताकि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र सरकारी विश्वविद्यालय न पहुंच सकें।”

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: