Indian News
Trending

नीट 2020 की फाइनल ‘आंसर की’ ntaneet.nic.in पर हुई जारी, कुछ देर मे रिजल्ट होगा घोषित

नई दिल्ली।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने नीट परीक्षा 2020 की फाइनल ‘आंसर की’ नीट की आधिकारिक वेबसाइट ntaneet.nic.in पर जारी कर दी हैं। जिन अभ्यर्थियों ने नीट 2020 (UG) परीक्षा में भाग लिया वे अब अपने फाइनल आंसर की एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं। एनटीए ने इससे पहले 26 सितंबर को नीट 2020 यूजी के प्रोविजनल आंसर की जारी कर दी थी।

फाइनल आंसर की जारी कर दी हैं –
साथ ही इसके एक दिन बाद नीट परीक्षा में पूछे गए पश्न व उनके जवाब पर आपत्ति दर्ज कराने के लिए छात्रों को आमंत्रित किया गया था। एनटीए ने आपत्तियों को सही पाया है उनके अनुसार प्रश्नों के उत्तर में सुधार के साथ एक बार फाइनल आंसर की जारी कर दी हैं। एनटीए ‘फाइनल आंसर की’ के आधार पर ही रिजल्ट तैयार किया गया है।

यहां पढ़ें – आज जारी होंगे नीट परीक्षा के परिणाम, वेबसाइट पर ऐसे चेक करना होगा रिजल्ट

दो बार यह परीक्षा हुयी थी स्थगित –
एनटीए ने नीट-2020 का आयोजन 13 सितंबर को ऑफलाइन मोड से किया गया था। इस परीक्षा के लिए 15 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। लेकिन कोरोना महामारी और लॉकउाउन के कारण दो बार यह परीक्षा स्थगित करनी पड़ी थी। 13 सितंबर को हुई इस परीक्षा में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए सभी जरूरी एहतियात बरते गए थे, जिससे कि छात्रों संक्रमण से बचाया जा सके।

एमबीबीएस व बीडीएस कोर्सेज में एडमिशन –
आपको बता दें कि आज 16 अक्तूबर को ही नीट परीक्षा 2020 का परिणाम घोषित किया जाएगा जिसकी जानकारी खुद शिक्षा मंत्री डॉ रमेश निशंक ने परे ट्विटर के माध्यम से दी है। बता दें कि इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले परीक्षार्थियों को देश के सरकारी और प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में संचालित एमबीबीएस व बीडीएस कोर्सेज में एडमिशन मिलेगा।

पहली बार पूरे देश में एक ही परीक्षा आयोजित हुई : निशंक –
शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियल निशंक ने कहा है कि नीट रिजल्ट घोषित हो रहा है। मुझे खुशी है कि पहली बार पूरे देश में एक ही परीक्षा आयोजित हुई है। नीट कोरोना काल में पूरी दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा थी। वन नेशन, वन एग्जाम यहां देखा गया है। जो स्टूडेंट्स असफल होंगे, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। अन्य करियर के अवसर उनका इंतजार कर रहे हैं। एक परीक्षा आपका निर्धारण नहीं कर सकती। नए डॉक्टर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन आत्मनिर्भर भारत को गति देंगे। मैं उनसे आग्रह करता हूं कि वह भविष्य में ग्रामीण भारत और जरूरतमंद लोगों की सेवा करें।

स्किल मॉडल को जानने के लिए गुजरात कौशल विकास मिशन की टीम ने किया एसवीएसयू का दौरा

पलवल।

गुजरात कौशल विकास मिशन के मिशन डायरेक्टर आई ए एस अधिकारी, आलोक कुमार पांडेय ने श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के कौशल मॉडल को समझने एवं जानने के लिए विश्वविद्यालय कैंपस का दौरा किया, इस दौरान उन्होंने विश्वविद्यालय द्वारा अपनाए गए सभी प्रकार के एजुकेशन और टेक्निकल मॉडल्स की विस्तृत जानकारी ग्रहण की। आलोक कुमार पांडेय ने कहा की श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय युवाओं को कौशल के क्षेत्र में अनेकों प्रकार के प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है। सरकार की यह बेहतर पहल है एसवीएसयू युवाओ को कौशल देने एवं आत्मनिर्भर भारत को आगे बढ़ने में बेहतर योगदान देगी।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: