Civil Services AcademyIndian News
Trending

UPSESSB ने टीजीटी व पीजीटी पदों के लिए नियुक्ति प्रक्रिया शुरू, टीजीटी से साक्षात्कार समाप्त

प्रधानाचार्य के 1453 कुल 17011 पदों पर भर्ती का प्रस्ताव

लखनऊ :
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ( UPSESSB) ने चार साल बाद प्रदेश के सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के 15,508 पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया गुरुवार से शुरू कर दी है। प्रशिक्षित स्नातक (TGT) के 12,913 और प्रवक्ता (PGT) के 2,595 पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन भी चयन बोर्ड की वेबसाइट www.upsessb.orgpariksha.up.nic.in पर शुरू हो गए हैं। इसके लियर अभ्यर्थी 27 नवंबर तक पंजीकरण करा सकते हैं।

टीजीटी से साक्षात्कार समाप्त –
भर्ती में प्रशिक्षित स्नातक (TGT) से साक्षात्कार समाप्त कर दिया गया है। टीजीटी में एमएड, पीएचडी और खेल जैसे भारांक भी समाप्त किए गए हैं। हालांकि पीजीटी में 50 अंकों का साक्षात्कार भी होगा और अधिकतम 25 अंकों का भारांक बीएड, एमएड, पीएचडी या खेल कोटे पर मिलेगा।

प्रधानाचार्य के 1453 कुल 17011 पदों पर भर्ती का प्रस्ताव –
पंजीकरण के लिए ऑनलाइन फीस जमा करने की अंतिम तिथि 27 नवंबर है। फॉर्म जमा करने की आखिरी तारीख 30 नवंबर है। चयन बोर्ड ने प्रधानाचार्य के 1453 कुल 17011 पदों पर भर्ती का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन कुछ पदों पर समायोजन होने और प्रधानाचार्यों की भर्ती शुरू न होने के कारण रिक्तियों की संख्या थोड़ी कम हो गई है।

यहां पढ़ें – बिहार विश्वविद्यालय स्नातक की पहली मेरिट लिस्ट जारी, 1 से 15 नवंबर तक होगा नामांकन

तदर्थ शिक्षकों को अधिकतम 35 अंक का देंगे भारांक –
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में एडेड कॉलेजों में पूर्व से कार्यरत तदर्थ शिक्षकों से भी ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे। उन्हें सेवाकाल के अनुरूप वेटेज (भारांक) का लाभ मिलेगा। सेवाकाल का सत्यापन जिला विद्यालय निरीक्षक करेंगे। तदर्थ शिक्षकों के सेवाकाल की गणना ट्रेजरी से वेतन भुगतान की तिथि से एक जुलाई 2020 तक होगी। तदर्थ शिक्षकों को एक वर्ष की सेवा पर 1.75 अंक और अधिकतम 35 अंकों का भारांक (अधिभार) मिलेगा।

लिखित परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं –
तदर्थ शिक्षकों के लिए टीजीटी व पीजीटी की लिखित परीक्षा क्रमश: 465 व 390 अंकों की होगी। इनके अलावा अन्य सभी अभ्यर्थियों के लिए टीजीटी व पीजीटी की लिखित परीक्षा क्रमश: 500 व 425 अंकों की होगी। शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी। परीक्षा दो घंटे की होगी। सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे। लिखित परीक्षा की तारीख बाद में घोषित की जाएगी।

ईडब्ल्यूएस को कम देना होगा आवेदन शुल्क –
ईडब्ल्यूएस वर्ग के अभ्यर्थियों को आवेदन शुल्क कम देना होगा। टीजीटी में अनारक्षित व ओबीसी 700-700, ईडब्ल्यूएस व एससी 400-400 जबकि एसटी के लिए 200 रुपये फीस रखी गई है। इसके साथ 50 रुपये ऑनलाइन प्रक्रिया शुल्क रखा गया है। इस प्रकार अनारक्षित व ओबीसी को 750, ईडब्ल्यूएस व एससी को 450 जबकि एसटी को 250 रुपये फीस चुकानी होगी। इसी प्रकार पीजीटी के लिए अनारक्षित व ओबीसी 750, ईडब्ल्यूएस 650, एससी 450 जबकि एसटी को 250 रुपये फीस देनी होगी।

प्रधानाचार्य पद के लिए आवेदन जल्द शुरू होंगे –
सूत्रों के अनुसार प्रधानाचार्यों की भर्ती के लिए भी जल्द ही आवेदन शुरू होंगे। नियुक्ति प्रक्रिया जुलाई 2021 से पहले पूरी करने का लक्ष्य है। पहली बार इन भर्तियों में आर्थिक रूप से कमजोर (EWS) वर्ग के अभ्यर्थियों को भी 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। चयन बोर्ड ने साफ कर दिया है कि किसी भी आरक्षण का लाभ उत्तर प्रदेश के निवासियों के लिए ही अनुमन्य है। गौरतलब है कि इससे पहले 2016 में टीजीटी-पीजीटी के तकरीबन 10 हजार पदों पर भर्ती के लिए आवेदन लिए गए थे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: