Indian News
Trending

यूजीसी ने स्कॉलरशिप के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवंबर तक बढ़ाई

नई दिल्ली :
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने स्कॉलरशिप प्रोग्राम के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाकर 30 नवंबर कर दी है। जिन उम्मीदवारों ने अभी तक अप्लाई नहीं किया है, वे ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ने के साथ ही छात्रों के संस्थानों द्वारा आवेदनों के सत्यापन की अंतिम तिथि भी बढ़ा दी है, जिसमें त्रुटि वाले आवेदनों को फिर से जमा करना भी शामिल है। अंतिम तिथि 15 दिसंबर तक है। चार छात्रवृत्ति कार्यक्रमों के लिए तिथियां बढ़ाई गई है और उसी के बारे में अधिसूचना यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट Ugc.Acin पर उपलब्ध कराई गई है।

पोर्टल 1 सितंबर से खुला है –

उत्तीर्ण विद्यार्थियों को वेबसाइट scholarships.gov.in/ पर राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल के माध्यम से अपना आवेदन जमा करने के लिए कहा गया है। पोर्टल 1 सितंबर से खुला है। योग्य संस्थानों को यह भी सलाह दी जाती है कि वे पोर्टल पर आवेदन प्राप्त करने के तुरंत बाद अपने विद्यार्थियों के आवेदनों का सत्यापन करें।

शैक्षणिक सत्र वर्ष 2020-2021 के लिए प्रवेश की तिथि बढ़ा दी –

29 अक्टूबर की एक अन्य अधिसूचना में, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने हाल ही में उच्च शिक्षा संस्थानों (HEI) द्वारा पेश किए जाने वाले खुले और दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रमों के लिए सितंबर-अक्टूबर शैक्षणिक सत्र के लिए वर्ष 2020-2021 के लिए प्रवेश की तिथि बढ़ा दी है। यूजीसी ने ओडीएल और ऑनलाइन मोड में प्रवेश प्रक्रिया को पूरा करने की तारीख 31 अक्टूबर से बढ़ाकर 30 नवंबर कर दी है।

वेबसाइट पर जाकर फॉर्म भर सकते है –

HEIs को UGC DEB वेब पोर्टल पर प्रवेश विवरण 15 दिसंबर तक अपलोड करने के लिए कहा गया है। जिन छात्रों ने अभी तक अप्लाई नहीं किया है, वे जल्द ही वेबसाइट पर जाकर फॉर्म भर सकते है। स्कॉलरशिप से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए छात्र वेबसाइट चेक कर सकते है।

ये भी पढ़ें – 

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में स्थापना दिवस पर किया गया कैरियर मेले का आयोजन

नई दिल्ली :

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की विश्वविद्यालय प्लेसमेंट सेल ने स्थापना के 100 साल पूरा करने के मौके के अवसर पर मंगलवार को ऑनलाइन कैरियर मेला का आयोजन किया। कैरियर मेले का उद्देश्य छात्रों को अपने अनुकूल नौकरियां तलाशने के साथ-साथ, विदेशों में उच्च अध्ययन के अवसरों का चयन कर सकने में सक्षम बनाना था। इसके लिए पेशेवर कैरियर काउंसलर, उद्योग विशेषज्ञ, रक्षा कार्मिक, नौकरशाहों और प्रतिष्ठित पूर्व छात्रों ने विभिन्न सत्र में नौकरी पाने और करियर विकास के गुण सिखाए गए। इसमें जामिया के स्कूलों और विश्वविद्यालय छात्रों ने हिस्सेदारी की।

छात्रों के लिए करियर योजना के महत्व पर जोर दिया –

जामिया की कुलपति प्रो. नजमा अख्तर ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया। नजमा अख्तर ने इस अवसर पर कहा कि छात्रों को करियर के विभिन्न विकल्पों को समझना चाहिए और अपने कौशल और रुचि के अनुसार उन्हें चुनना चाहिए। उन्होंने छात्रों के लिए करियर योजना के महत्व पर जोर दिया और कहा कि इससे उन्हें अपने भविष्य के लिए कई वैकल्पिक रास्ते मिलेंगे और वे उच्च उद्देश्य और राष्ट्र निर्माण में बेहतर योगदान कर सकेंगे।

कामयाबियों की कहानी से छात्रों का उत्साह बढ़ाया –

कार्यक्रम में आयोजित कई सत्रों में कई दिग्गजों ने छात्रों को संबोधत किया। अंतिम सत्र “एलुमनी अचीवर्स के साथ बातचीत“ था, जिसमें अमेरिका से आए ड्रोइसिस के सीईओ संजीव गोयल और एएमपीएलयूएस सोलर के प्रबंध निदेशक और संस्थापक संजीव अग्रवाल ने अपनी कामयाबियों की कहानी से छात्रों का उत्साह बढ़ाया।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: