Indian News

इग्नू ने 15 नवंबर तक बढ़ाई आवेदन की अंतिम तिथि, पूरी जानकारी यहां

नई दिल्ली :
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने जुलाई 2020 सत्र के लिए सभी पाठ्यक्रमों मे एडमिशन के लिए ऑनलाइन फ्रेश एडमिशन की अंतिम तिथि 15 नवंबर तक बढ़ा दी है। अंतिम तिथि सभी प्रमाणपत्र और सेमेस्टर-आधारित कार्यक्रमों (एमपी, एमपीबी, पीजीडीएमएम, पीजीडीएफएम, पीजीडीएचआरएम, एमसीए, बीसीए और छह महीने या कम की अवधि के सभी प्रमाणपत्र और जागरूकता कार्यक्रमों) पर लागू नहीं होगा।

जुलाई 2020 सत्र के इग्नू शैक्षणिक कार्यक्रमों का विवरण –

ignouadmission.samarth.edu.in लिंक से एक्सेस किया जा सकता है। इग्नू क्षेत्रीय केंद्र चंडीगढ़ के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. एके डिमरी ने सूचित किया की जुलाई सत्र के लिए ऑनलाइन प्रवेश पत्र जमा करने की अंतिम तिथि पहले 31 अक्टूबर तय की गई थी। उन सभी उम्मीदवारों के लिए जो किसी भी इग्नू पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने की योजना बना रहे हैं। वे ऑनलाइन ही आवेदन कर सकते हैं। सबसे पहले उम्मीदवार को आधिकारिक वेबसाइट पर खुद को पंजीकृत करना है।

पहले से है रजिस्टर्ड छात्र अपने आईडी-पासवर्ड से करें आवेदन –

जो छात्र पहले से पंजीकरण कर चुके है वे अपनी आईडी-पासवर्ड के साथ लॉगिन कर सकते हैं और जुलाई 2020 के लिए आवेदन पत्र भर सकते हैं। आवेदक इग्नू की वेबसाइट से कार्यक्रमों का पूरा विवरण भी डाउनलोड कर सकते हैं। शिक्षार्थी स्नातक और परास्नातक कार्यक्रमों में अस्थायी प्रवेश ले सकते हैं। जिनका अंतिम वर्ष का परिणाम लंबित है, हालांकि ऐसे शिक्षार्थियों को 31 दिसंबर 2020 तक अपना पूरा प्रमाण पत्र/ डिग्री/मार्कशीट जमा करना होगा यदि यह प्रस्तुत नहीं किया जाता है तो उनका प्रवेश रद्द कर दिया जाएगा और विश्वविद्यालय के मानदंडों के अनुसार शुल्क वापस किया जाएगा।

इग्नू ने आवेदन की अन्तिम तिथि 25 अक्तूबर तक बढ़ाई थी –

बता दें की इससे पहले इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने दो बार आवेदन की तिथियां आगे बढ़ाई थी। इससे पहले इग्नू ने आवेदन की अन्तिम तिथि 25 अक्तूबर तक बढ़ाई, फिर दोबारा 30 अक्तूबर तक आवेदन कर सकते थे, और अब फिर से अंतिम तिथि को 15 नवम्बर तक बढ़ा दिया है।

अन्य और खबरें पढ़ें यहां –

आईआईटी दिल्ली के 51वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में शामिल हुए प्रधानमंत्री मोदी, छात्रों को किया प्रोत्साहित

नई दिल्ली :
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली के 51वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री मोदी शामिल रहे। पीएम ने कहा कि कोरोना का यह संकटकाल दुनिया में बहुत बड़े बदलाव लेकर आया है। कोरोना के बाद दुनिया में बहुत अलग होने जा रहा है और इसमें बहुत बड़ी भूमिका तकनीक की ही होगी। कोरोना ने हमें बहुत कुछ सिखाया। यह भी सिखाया कि वैश्विकरण तो जरूरी है, लेकिन उसके साथ आत्मनिर्भरता भी जरूरी है।

अपने आविष्कारों को खुलकर सबके सामने लाएं –

शनिवार को हुए वार्षिक दीक्षांत समारोह मे प्रधानमंत्री ने विद्यार्थियों को भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए इनोवेशन के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा आत्मनिर्भर अभियान हमारे युवाओं के लिए नए अवसरों के बारे में है ताकि वे अपने आविष्कारों को खुलकर सबके सामने ला सकें। वर्तमान समय में युवा नवाचार के माध्यम से करोड़ों देशवासियों के जीवन में बदलाव ला सकते हैं। आज देश में आपकी जरूरतों को, भविष्य की आवश्यकताओं को समझते हुए एक के बाद एक निर्णय लिए जा रहे हैं, पुराने नियम बदले जा रहे हैं।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)…

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: