Abroad NewsIndian News
Trending

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने छठे भारतीय अंतरराष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (IISF) के आयोजन की घोषणा की

विज्ञान एवं तकनीक के मेगा शो भारतीय अंतरराष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव

नई दिल्ली :
आईआईएसएफ (IISF) के छठे संस्करण की औपचारिक घोषणा 17 नवंबर को माननीय केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ हर्षवर्धन द्वारा की गई। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार के फेसबुक पेज पर इस घोषणा का सजीव प्रसारण किया गया। इस वर्ष विज्ञान महोत्सव का आयोजन विज्ञान भारती तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार की संयुक्त सहभागिता से 22 से 25 दिसंबर तक किया जा रहा है जिसका केंद्रीय विषय ‘आत्मनिर्भर भारत एवं विश्व कल्याण के लिए विज्ञान’ रखा गया है। भारत का सबसे बड़ा शोध संगठन सीएसआईआर इस आयोजन का मुख्य समन्वयक होगा और नई दिल्ली स्थित सीएसआईआर–निस्टैड्स महोत्सव की नोडल प्रयोगशाला है।

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि गतवर्षों के महोत्सवों से बेहतर होगा यह आयोजन –

आईआईएसएफ आयोजन के बारे में डॉ हर्षवर्धन ने बताया कि वर्चुअल रूप से आयोजित किए जाने के कारण इस बार यह आयोजन गतवर्षों के संस्करणों से अलग और अनूठा होगा। डॉ हर्षवर्धन ने विश्वास व्यक्तव करते हुए कहा कि निश्चित रूप से सीएसआईआर द्वारा यह आयोजन पूर्व में आयोजित किए गए महोत्सवों से बेहतर होगा। उन्होंने यह भी बताया कि हम वर्ष 2020 का अंत इस बेहतरीन आयोजन के द्वारा करेंगे और नए वर्ष का स्वागत नई आशा और ऊर्जा से करेंगे। अंत में सीएसआईआर के महानिदेशक डॉ शेखर सी मांडे ने आयोजन की घोषणा के लिए माननीय मंत्री महोदय के प्रति आभार व्यक्त किया।

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के वैज्ञानिक, शोधार्थी, छात्र लेंगे भाग –

उल्लेखनीय है कि इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य आमजन एवं युवाओं में विज्ञान के प्रति रुचि जाग्रत करते हुए उसे जन जन के कल्याण के लिए उपयोगी बनाना व प्रचार प्रसार करना है। इस बार कोविड-19 के कारण इसका आयोजन वर्चुअल रूप से किया जाएगा। इसमें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के वैज्ञानिक, शोधार्थी, छात्र व विज्ञान के क्षेत्र में काम करने वाले संस्थान तथा स्वयंसेवी संगठन भाग लेंगे। इस दौरान वैज्ञानिकों के संवाद, शोध पत्र वाचन, परिचर्चा, प्रदर्शनी व अनेक विज्ञान प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। विज्ञान भारती – राजस्थान को इस आयोजन के लिए स्टूडेंट इंजीनियरिंग मॉडल कॉम्पिटीशन की जिम्मेदारी दी गई है।

आयोजन स्थल सीएसआईआर-सीरी का जयपुर केंद्र होगा –

विज्ञान भारती – राजस्थान के सचिव डॉ मेघेंद्र शर्मा आयोजन के राष्ट्रीय समन्वयक होंगे। डॉ मेघेन्द्र शर्मा ने बताया कि आईआईएसएफ–2020 में कुल 41 कार्यक्रम होंगे और उनमें से एक स्टूडेंट इंजीनियरिंग मॉडल कम्पीटिशन (एसईएमसी) मीट एंड एक्स्पो होगा और एसईएमसी के संचालन के लिए नोडल प्रयोगशाला सीएसआईआर-सीरी होगी तथा आयोजन स्थल सीएसआईआर-सीरी का जयपुर केंद्र होगा।

अन्य और खबरें पढ़ें यहां –

आइआइटी कानपुर में बीटेक के नये सत्र की पढ़ाई शुरू, ऑनलाइन मोड मे हो रही है क्लासेस

लखनऊ :
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर (आइआइटी) में बीटेक और बीएस पहले वर्ष के छात्रों की कक्षाएं बुधवार 18 नवम्बर से शुरू होने जा रही हैं। ये क्लासेस ऑनलाइन मोड पर संचालित होंगी। मंगलवार को सभी छात्रों को कोर्स का प्रारूप मुहैया करा दिया जाएगा। विभागाध्यक्ष, फैकल्टी, इंस्ट्रक्चर को छात्रों के लिए डिजिटल फार्मेट पर लेक्चर, नोट्स और महत्वपूर्ण शैक्षणिक सामग्री तैयार करनी होगी। सप्ताह में पांच दिन पढ़ाई होगी, जबकि एक दिन रिवीजन कराया जाएगा।

बैचलर ऑफ साइंस के ऑड (विषम) सेमेस्टर का कैलेंडर जारी –

आइआइटी में नव प्रवेशी छात्रों के लिए कई सीनियर, पुरातन छात्र और फैकल्टी को विभिन्न तरह की जिम्मेदारी सौंपी गई है। आइआइटी प्रशासन ने पहले साल के बीटेक व बैचलर ऑफ साइंस के ऑड (विषम) सेमेस्टर का कैलेंडर जारी किया है। देरी से पंजीयन कराने वाले छात्र 24 नवंबर तक रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। मिड सेमेस्टर परीक्षा 26 से 31 दिसंबर तक होगी।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: