University/Central University

दूसरे पद्मश्री से कम नहीं है डिग्री, 46 साल बाद मिली बीए की डिग्री पर अनूप जलोटा

लखनऊ :
अनूप जलोटा को लखनऊ विश्वविद्यालय से करीब 46 साल बाद अपनी बीए की डिग्री मिली। बुधवार सुबह कुलपति कार्यालय में कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय ने यह डिग्री सौंपी।

वर्षों बाद डिग्री पाकर भजन सम्राट हुए भावुक –

विश्वविद्यालय के आयोजित हुए शताब्दी कार्यक्रम में लखनऊ विश्वविद्यालय ने अपने पूर्व छात्र प्रसिद्ध भजन सम्राट अनूप जलोटा को भी आमंत्रित किया था। जलोटा का कार्यक्रम मंगलवार को कला संकाय प्रांगण में हुआ था। अनूप जलोटा ने 1974 में लखनऊ विश्वविद्यालय से बीए उत्तीर्ण किया था लेकिन डिग्री नहीं ले सके थे। वर्षों बाद डिग्री पाकर भजन सम्राट भावुक हो गए। वह बोले, यह डिग्री प्राप्त करके मुझे ऐसा महसूस हो रहा है कि जैसे मैं दूसरी बार पद्मश्री से सम्मानित किया जा रहा हूं। उन्होंने यह भी कहा कि जब जब विश्वविद्यालय उन्हें याद करेगा वे लखनऊ विश्वविद्यालय अवश्य आएंगे।

पीएम मोदी ने लखनऊ विश्वविद्यालय परिवार को दी शुभकामनाएं –

विश्वविद्यालय की स्थापना के सौ साल पूरे होने पर यहां शताब्दी वर्ष समारोह आयोजित किया गया। शताब्दी समारोह के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। 100 वर्ष पूरा होने पर पीएम मोदी ने लखनऊ विश्वविद्यालय परिवार को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि 100 वर्ष का समय सिर्फ एक आंकड़ा नहीं है, इसके साथ अपार उपलब्धियों का एक जीता जागता इतिहास जुड़ा है। यहांं देश दुनिया के लिए अनेक प्रतिभाओं को बनते हुए देखा है। यहां के छात्र अनेक जगह पहुंचे। लखनऊ यूनिवर्सिटी के कला संकाय प्रांगण मेेें नेता सुभाष चन्द्र बोस की आवाज गूंजी थी।

अन्य और खबरें पढ़ें यहां –

लखनऊ विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह को पीएम ने किया संबोधित, छात्रों को दिया संदेश

लखनऊ :
विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। 100 वर्ष पूरा होने पर पीएम मोदी ने लखनऊ विश्वविद्यालय परिवार को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि 100 वर्ष का समय सिर्फ एक आंकड़ा नहीं है, इसके साथ अपार उपलब्धियों का एक जीता जागता इतिहास जुड़ा है। यहांं देश दुनिया के लिए अनेक प्रतिभाओं को बनते हुए देखा है। यहां के छात्र अनेक जगह पहुंचे। लखनऊ यूनिवर्सिटी के कला संकाय प्रांगण मेेें नेता सुभाष चन्द्र बोस की आवाज गूंजी थी। कल जब संविधान दिवस मनाएंगे तब नेता जी की याद आएगी। मैं सभी विभूतियों का अभिनन्दन करता हूँ।

प्रेरित करने वाले नागरिकों का निर्माण ऐसे ही केंद्रों में होता है –

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, आज एकादशी है। देवगण सोने जाते हैं। आज देव जागरण का दिन है। जब सभी प्राणी के साथ देवता सो रहे होते हैं तब संयमी मानव लोक कल्याण के लिए काम करता है। देश को प्रेरित करने वाले नागरिकों का निर्माण ऐसे ही केंद्रों में होता है। कोरोना में अनेक संसाधन यहां जुटाएं गए हैं। मेरा सुझाव है जिन जिलों में आपका दायरा है वहां के लोकल कोर्स, वहां का स्किल विकास विश्वविद्यालय में किया जाए।

अध्यापक अपने विद्यार्थी को निखारते हैं –

पीएम मोदी ने कहा, लखनऊ विश्वविद्यालय ऊंचे लक्ष्‍य हासिल करने का केंद्र है। यहां के अध्यापक अपने विद्यार्थी को निखारते हैं। उन्होंने कहा, हम अपने सामर्थ्य का उपयोग ही नहीं कर पाए। रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री पर निवेश हुआ, घोषणा हुई, लेकिन यहाँ केवल बोगी रंग दिए जाते रहे। 2014 में हमने सोच बदली। आज सैकड़ो डिब्बे बन रहे हैं। इस पर यूपी को गर्व होगा।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: