Indian News
Trending

एचपी टीईटी नवंबर/दिसंबर 2020 की नई तारीखें जारी, 12 से 15 दिसंबर तक होगी परीक्षा

नई दिल्ली :
हिमाचल प्रदेश बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन (एचपीबीओएसई) ने 7 दिसंबर 2020 को हिमाचल प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (एचपी टीईटी) नवंबर/दिसंबर 2020 के लिए नई तारीखों की घोषणा की है। बोर्ड द्वारा जारी ऑफिशियल वेबसाइट, hpbose.org पर जारी नोटिस के अनुसार आर्ट्स, मेडिकल, पंजाबी, उर्दू, जेबीटी, शास्त्री, नॉन-मेडिकल और एलटी की टीईटी परीक्षाओं का आयोजन 12 दिसंबर से 15 दिसंबर 2020 तक किया जाएगा। बोर्ड द्वारा निर्धारित चारों ही परीक्षा तिथियों पर हिमाचल टीईटी 2020 का आयोजन दो पालियों (सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक और दोपहर 2 बजे से शाम 4.30 बजे तक) में किया जाएगा।

इससे पहले इन परीक्षाओं का आयोजन 29 नवंबर से 13 दिसंबर तक किया जाना था। बोर्ड ने 1 दिसंबर को नोटिस जारी करते हुए एचपीटीईटी नवंबर/दिसंबर 2020 परीक्षाओं को स्थगित किये जाने की घोषणा की थी।

इन तारीखों पर होंगी परीक्षाएं –

– टीजीटी (आर्ट्स) टीईटी – 12 दिसंबर (10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक)
– टीजीटी (मेडिकल) टीईटी – 12 दिसंबर (दोपहर 2 बजे से शाम 4.30 बजे तक)
– पंजाबी टीईटी – 13 दिसंबर (सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक)
– उर्दू टीईटी – 13 दिसंबर (दोपहर 2 बजे से शाम 4.30 बजे तक)
– जेबीटी टीईटी – 14 दिसंबर (सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक)
– शास्त्री टीईटी – 14 दिसंबर (दोपहर 2 बजे से शाम 4.30 बजे तक)
– टीजीटी (नॉन-मेडिकल) टीईटी – 15 दिसंबर (सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक)
– लैंग्वेज टीचर टीईटी – 15 दिसंबर (दोपहर 2 बजे से शाम 4.30 बजे तक)

महत्वपूर्ण जानकारी के लिए ऑफिशियल वेबसाइट चेक करें –

बता दें कि बोर्ड द्वारा जारी नई परीक्षा तारीखों पर एचपी टीईटी दिसंबर 2020 परीक्षा में पहले जारी किये जा चुके एडमिट कार्ड के माध्यम से सम्मिलित हो पाएंगे। उम्मीदवार परीक्षा के आयोजन तक सभी अपडेट्स लेने के लिए बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट चेक कर सकते है ताकि कोई भी उम्मीदवार किसी भी महत्वपूर्ण जानकारी से वंछित न रहें।

अन्य और खबरें पढ़ें यहां –

एमसीयू मे “महिला कर्मचारियों के अधिकार और दायित्व” विषय पर आयोजित हुई परिचर्चा

भोपाल :
माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (एमसीयू) में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (उच्चतर शैक्षिक संस्थानों में महिला कर्मचारियों एवं छात्रों के लैंगिक उत्पीड़न के निराकरण, निषेध एवं सुधार) विनियम 2015 के तहत गठित आंतरिक शिकायत समिति द्वारा “महिला कर्मचारियों के अधिकार और दायित्व” विषय पर परिचर्चा आयोजित की गई। जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड, भोपाल की सदस्य श्रीमती प्रतिभा पाण्डे ने इस अवसर पर विश्वविद्यालय की महिला कर्मचारियों के साथ संवाद किया।

विश्वविद्यालय द्वारा ‘जीरो टॉलरेंस’ नीति अपनाई जाएगी –

एमसीयू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो केजी सुरेश ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि महिलाओं से संबंधित कानूनों पर जागरूकता पैदा करने की जरूरत है। महिलाओं के खिलाफ गंभीर अपराध छोटी घटनाओं से शुरू होते हैं जिन्हें आमतौर पर लोग नजरअंदाज कर देते हैं। लैंगिक उत्पीड़न से जुड़े किसी भी मामले में विश्वविद्यालय द्वारा ‘जीरो टॉलरेंस’ नीति अपनाई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि विश्वविद्यालय के बिसनखेड़ी स्थित नये परिसर में स्टाफ़ के बच्चों के लिये शिशुगृह की व्यवस्था की जाएगी| उन्होंने आशा जताई की आईसीसी केवल शिकायतों के निराकरण तक ही सीमित न रहकर विश्वविद्यालय में व्यापक दृष्टिकोण के साथ कार्य करेगी।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)…

एएमयू के सर सैयद अकादमी ने विवि के शताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित किया अंतरराष्ट्रीय वेबिनार

लखनऊ :
एएमयू के सर सैयद अकादमी द्वारा विश्वविद्यालय के शताब्दी वर्ष के अवसर पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। प्रसिद्ध इतिहासकार, लेखक तथा अलीगढ़ आन्दोलन के ज्ञाता प्रो. डैविड लेलिवेल्ड (विलियम पिटरसन यूनिवर्सिटी, यूएसए) ने उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि सर सैयद एक बहुआयामी व्यक्तित्व के मालिक थे। वह सामाजिक और बौद्धिक क्रांतियों के बारे में गहरी जानकारी रखते थे। वह धार्मिक विचार और महान समाज सुधारक के साथ-साथ विज्ञान और इतिहास की शिक्षा के समर्थक भी थे। उन्होंने जिस संस्थान की स्थापना की वह आज उपमहाद्वीप में अग्रणी संस्थानों में से एक है।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)…

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: