Indian News

इग्नू ने आईआईएसएफ 2020 पर वेबिनार किया आयोजित

लखनऊ :
इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, क्षेत्रीय केन्द्र, लखनऊ ने 17 दिसम्बर को विज्ञान भारती, अवध प्रान्त के संयुक्त तत्वाधान में आईआईएसएफ 2020 के आऊटरीच कार्यक्रम और विज्ञान यात्रा का ऑनलाइन माध्यम से आयोजन किया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि CSIR-NISTADS की निदेशक और आई.आई.एस.एफ.-2020 की मुख्य समन्वयक डाॅ. रंजना अग्रवाल थी। डाॅ. मनोरमा सिंह, क्षेत्रीय निदेशक, इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र, लखनऊ ने आईआईएसएफ-2020 के इस कार्यक्रम में समस्त गणमान्य अतिथि और समस्त प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कहा कि वर्तमान में कोविड-19 की आपदा को आत्मनिर्भरता के माध्यम से ही अवसर में परिवर्तित किया जा सकता है, साथ ही आवश्यकता है कि हम ‘‘वोकल फाॅर लोकल’’ एवं ‘‘मेक इन इण्डिया’’ को साकार करने का निरन्तर प्रयास करते रहें। डाॅ. सिंह ने इग्नू द्वारा संचालित ऐसे कई कार्यक्रमों के बारे में भी चर्चा की जिनके द्वारा छात्र-छात्राएं एवं घरेलू महिलाएं स्वरोजगार स्थापित करके आत्मनिर्भर बन सकते हैं।

भारत कभी भी आक्रान्ता की भूमिका में नहीं रहा –

डाॅ. रंजना अग्रवाल, निदेशक CSIR-NISTADS, ने आई.आई.एस.एफ.-2020 के आऊटरीच कार्यक्रम और विज्ञान यात्रा के आयोजन उद्देश्य को बताते हुए कहा कि भारत प्राचीन काल से ही विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अग्रसर रहा और वर्तमान में आत्मनिर्भर भारत बनने की दिशा में पुनः विज्ञान को अग्रणी भूमिका निभाने की आवश्यकता है, इसी उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए 22 से 25 दिसम्बर 2020 को ऑनलाइन माध्यम से छठे आईआईएसएफ 2020 का आयोजन किया जा रहा है। डाॅ. हेमेन्द्र कुमार पाण्डेय, वैज्ञानिक अधिकारी, भाभा परमाणु अनुसंधान संस्थान ने कहा कि भारत की विज्ञान के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता और साधन सम्पन्नता के कारण ही भारत कभी भी आक्रान्ता की भूमिका में नहीं रहा। स्वाधीनता के बाद से भारत निरन्तर अपनी उसी आत्मनिर्भरता श्रेणी में आने का प्रयास कर रहा है।

कार्यक्रम में ये रहे उपस्थित –

भाभा परमाणु अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिक अधिकारी डाॅ. हेमेन्द्र कुमार पाण्डेय इस कार्यक्रम में विशिष्ट वक्ता के रूप में सम्मिलित हुए। इनके साथ इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र, लखनऊ की क्षेत्रीय निदेशक डाॅ. मनोरमा सिंह, मेरठ इन्स्टीट्यूट ऑफ़ इन्जीनियरिंग एवं टेक्नोलाॅजी के वाईस चेयरमैन पुनीत अग्रवाल, विज्ञान भारती अवध प्रान्त के संगठन सचिव श्रेयांष मण्डलोई, मुख्य इन्नोवेशन अधिकारी संदीप त्रिवेद्वी, इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र, लखनऊ की सहायक क्षेत्रीय निदेशक डाॅ. अनामिका सिन्हा उपस्थित रहे। कार्यक्रम में श्री पुनीत अग्रवाल और श्री श्रेयान्स मन्डलोई ने भी अपनी सहभागिता दी। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. अनामिका सिन्हा ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन सन्दीप द्विवेदी ने दिया।

अन्य और खबरें पढ़ें यहां –

एमसीयू में चल रहे 04 दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम में दूसरे दिन कई मीडिया विशेषज्ञों ने दिया मार्गदर्शन

भोपाल :
माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय भोपाल में मध्यप्रदेश के जनसंपर्क अधिकारियों के चार दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम के दूसरे दिन कई मीडिया विशेषज्ञों ने मार्गदर्शन दिया। पहले बैच के समापन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री आशुतोष प्रताप सिंह संचालक (जनसंपर्क) ने कहा कि जनसंपर्क अधिकारियों को समय के साथ बदलती मीडिया तकनीक और प्रचलनों से अपडेट रहना आवश्यक है, साथ ही इसके अनुरूप अपने कौशल का विकास करना पड़ेगा। श्री सिंह ने कहा कि ट्विटर प्लेटफॉर्म का जन शिकायत के निवारण में प्रभावी तरीके से उपयोग किया जा सकता है। इस अवसर पर उन्होने जनसंपर्क अधिकारियों को ब्लॉग लिखने का भी आव्हान किया।

पूरी खबर पढ़ें यहां (क्लिक करें)…

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: