Indian News

वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मेम्स में नया सत्र और जेनेसिस शुरू

नई दिल्ली :
महाराजा अग्रसेन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज में वैदिक मंत्रोच्चार और हवन -पूजन के साथ नए शैक्षिक सत्र का आरम्भ हुआ। इसी के साथ कालेज का वार्षिकोत्स्व जेनेसिस २०२० भी ऑनलाइन मनाया गया। कार्यक्रम में में बीबीए,बी जे एम सी,बी. काम, बीए एलएल बी,बीए इकोनॉमिक्स के नये छात्रों को पाठ्यक्रम व अन्य अकादमिक गतिविधियों की जानकारी दी गई।

बड़ी संख्या में छात्र आनलाइन शामिल हुए –

इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में छात्र आनलाइन शामिल हुए। समारोह के मुख्य अतिथि मेट्स के एक्जेक्यूटिव चेयरमैन एस. पी. अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में छात्रों को यह संस्थान चुनने के लिए बधाई दी। डाइरेक्टर जनरल डॉ. एस. के. गर्ग ने छात्रों को नए सत्र की शुभकामनाएं देते हुए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का आह्वान किया।

इन प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन –

जेनेसिस में नृत्य, गायन, वादन, विवाद प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग, शार्ट फिल्म मेकिंग, अनसंग हीरो, मोनो एक्टिंग, ट्रेजर हंट आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ, जिनमें छात्रों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। जेनेसिस कार्यक्रम का संचालन सुमेधा दत्ता ने किया। उक्त अवसर पर संस्थान के वरिष्ठ पदाधिकारीगण सर्वश्री सुंदरलाल गोयल, ओ पी गोयल, एस सी तायल, रजनीश गुप्ता, टी आर गर्ग तथा प्रोफेसर जी पी गोविल आदि मौजूद रहे।

महामारी को देखते हुए जरूरी नियमों का रखा गया ध्यान –

इस अवसर पर बड़ी संख्या में छात्र व उनके परिजन उपस्थित रहे, कार्यक्रम में कोरोना महामारी को देखते हुए जरूरी नियमों, जैसे मास्क व दूरी का ध्यान रखा गया। कार्यक्रम के अंत में संस्थान के निदेशक डॉ. रवि कुमार गुप्ता ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

अन्य और खबरें पढ़ें यहां –

एएमयू के शताब्दी समारोह को पीएम ने किया संबोधित, कहा- एएमयू कैंपस में मिनी इंडिया देखते हैं

नई दिल्ली :
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के शताब्दी समारोह को ऑनलाइन माध्यम से संबोधित किया। वीडियो कॉन्फेरेंसिंग के माध्यम से अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि महामारी के दौरान भी, जिस तरह से एएमयू ने राष्ट्र की मदद की है, वह सराहनीय है। इसने न केवल टेस्टिंग कैंपस का आयोजन किया, बल्कि अपने राष्ट्र के नागरिकों की सहायता के लिए पीएम केयर फंड में एक बड़े हिस्से का भी योगदान दिया। हम एएमयू कैंपस में एक मिनी इंडिया देखते हैं।

संकट के समय भी एएमयू ने समाज की अभूतपूर्व मदद की –

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आपको इस उत्सव का हिस्सा बनने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं। पिछले 100 वर्षों में, एएमयू ने दुनिया के कई देशों के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करने के लिए भी कार्य किया है। यहां उर्दू, अरबी और फारसी भाषाओं पर किए गए शोध, इस्लामिक साहित्य पर शोध, भारत के सांस्कृतिक संबंधों को नई ऊर्जा देते हैं। इस संकट के समय भी एएमयू ने समाज की अभूतपूर्व मदद की है। हजारों लोगों का नि: शुल्क परीक्षण करना, आइसोलेशन वार्डों का निर्माण करना, प्लाज्मा बैंकों का निर्माण करना और पीएम केयर फंड में बड़ी राशि का योगदान करना आपके समाज के प्रति दायित्वों को पूरा करने की गंभीरता को दर्शाता है। इस अवसर को यादगार बनाने के लिए पीएम ने एक विशेष डाक टिकट भी जारी किया।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: