Indian NewsNewsSchool CornerUncategorized

Delhi School Reopen: सोमवार से खुल जाएंगे 10वीं और 12वीं के स्कूल, जानिए क्या रहेंगे कड़े नियम?

नई दिल्ली: कोरोना महामारी की वजह से लंबे समय से बंद पड़े स्कूल सोमवार से खोल दिए जाएंगे। फिलहाल स्कूल केवल कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए खोले जाएंगे। छात्रों को बुलाने के लिए कक्षाओं को सेनिटाइज किया गया है। साथ ही पूरे स्कूल परिसर में कोरोना से बचाव को लेकर जागरूकता बोर्ड भी लगाए हैं। आपको बता दें कि तय की गए मंको के अनुरूप ही बच्चों को स्कूलों में बुलाया जाएगा।

स्कूलों में बच्चों को बुलाने के बाद हाजिरी भी लगेगी। लेकिन इसके अटेंडेंट पूरा होने से कोई लेना देना नहीं होगा। कुछ निजी स्कूल ऐसे भी हैं, जहां कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों की आनलाइन माध्यम से प्री-बोर्ड की परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं, वे स्कूल अभी नहीं खुलेंगे। इनमें पूसा रोड स्थित स्पि्रंग डेल्स, बाराखंभा रोड स्थित माडर्न स्कूल समेत कुछ अन्य निजी स्कूल शामिल हैं। स्‍प्रिंग डेल्स की प्रधानाचार्या अमिता मुल्ला वॉतल ने बताया कि कक्षा 10वीं-12वीं के छात्र अभी आनलाइन माध्यम से प्री-बोर्ड की परीक्षाएं दे रहे हैं। ऐसे में स्कूल जनवरी के आखिरी सप्ताह में खोला जाएगा।
कुछ ऐसी होगी व्यवस्थाएं
सैनिटाइजेशन मशीन के अलावा तापमान मापने की भी मशीन होगी, जिसका प्रयोग कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों का आने और जाने के समय में किया जाएगा। Senitization हर आधे घंटे के अंतर पर किया जाएगा।कक्षा 10वीं के छात्र सुबह आठ बजे तो 12वीं के साढ़े आठ बजे स्कूल आएंगे छात्रों की हर कक्षा 40 मिनट की होगी। इसमें बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर प्रायोगिक कक्षाएं ज्यादा होंगी हर कक्षा को दो भागों में बांटा है। प्रत्येक कक्षा में 12-15 छात्र ही बैठेंगे। हर कक्षा में छात्रों के लिए एक सहायक शिक्षक भी मौजूद रहेंगे।

कोई भी छात्र बिना हाथों को सैनिटाइज करे और बिना मास्क पहने स्कूल नहीं आएगा। छात्रों के लिए अभी बस, वैन सुविधा नहीं शुरू की गई है तो छात्रों को निजी वाहन से स्कूल आना होगा। पुस्तकालय कक्ष भी बंद रहेगा। कंटेनमेंट जोन के स्कूल नहीं खुलेंगे। कंटेनमेंट जोन में रह रहे शिक्षक, छात्र व कर्मचारी स्कूल नहीं आएंगे। कक्षा में हर छात्र को छह फुट की दूरी पर बैठना होगा। स्कूल के मुख्य द्वार पर ही हर एक व्यक्ति की थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य रूप से की जाएगी। एक मार्च से बोर्ड के छात्रों की प्रायोगिक परीक्षाएं, प्रोजेक्ट और आंतरिक मूल्यांकन शुरू हो जाएगा। 19 मार्च 2020 से बंद है दिल्ली के स्कूल 20 मार्च से 15 अप्रैल के बीच हो सकती है कक्षा 12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षाएं एक अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच हो सकती है कक्षा 10वीं की प्री-बोर्ड परीक्षाएं 10वीं के लिए फरवरी के दूसरे सप्ताह में होगा पहला पीरियाडिक असेसमेंट और मार्च के दूसरे सप्ताह में दूसरा पीरियाडिक असेसमेंट आयोजित हो सकता हैं।
छात्रों को सीबीएसई के सैंपल पेपर को हल करने की तैयारी कराएंगे स्कूल। 10वीं और 12वीं के छात्रों को घटे हुए पाठ्यक्रम के बारे में बताया जाएगा। 10वीं के छात्रों का स्कूल एक फरवरी से अप्रैल के आखिरी सप्ताह तक करेंगे बहुविकल्पीय मूल्यांकन। छात्रों को अपने सहपाठियों से कापी, किताब व अन्य सामग्री नहीं करनी होगी साझा। स्कूलों में प्रार्थना सभा व अतिरिक्त पाठ्यक्रम गतिविधियां नहीं होंगी आयोजित।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: