Indian NewsUniversity/Central University
Trending

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय में किया गया कार्यक्रम का आयोजन

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मंच पर उपस्थित अतिथिगण

गुरुग्राम। श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण विभाग के तत्वाधान में सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर ‘अस्मि’ थीम पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में वक्ताओं के तौर पर आईएएस अधिकारी श्रीमती सोनल गोयल, डिप्टी जनरल मैनेजर कन्सेन्ट्रिक्स श्रीमती मधुबाला शर्मा, वीमेन एडं चाईल्ड वेलनेस एक्सपर्ट डॉ महिमा बक्सी, वंडर गर्ल जाह्नवी पंवार, विश्वविद्यालय के कुलपति श्री राज नेहरू, दिल्ली स्किल एडं एंटरप्रोनरशिप यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रो निहारिका वोहरा, कुलसचिव प्रो आरएस राठौर शामिल हुए।

कार्यक्रम की शुरूआत में डीन प्रो ज्योति राणा ने सभी का हार्दिक आभार व्यक्त किया। आईएएस अधिकारी श्रीमती सोनल गोयल ने कहा कि हमें हमेशा बेहतर करना चाहिए। ईमानदारी एवं सच्चाई से खुब मेहनत करें, सफलता अवश्य मिलेगी। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, जनशाक्ति, आजीविका मिशन सरकार की बेहतर योजनाएं हैं, इन्हे सभी तक पहुचाना चाहिए। डिप्टी जनरल मैनेजर कन्सेन्ट्रिक्स श्रीमती मधुबाला शर्मा ने अपने व्यक्तित्व एवं जीवन की कठिनाइयों के बारे में सभी को रूबरू करवाया एवं बताया कि इन्हीं कठिनाइयों की बदौलत सफलता मिली है। वीमेन एडं चाईल्ड वेलनेस एक्सपर्ट डॉ महिमा बक्सी ने कहा कि जब हर जगह महिलाओं का सम्मान होगा तब देश ही नहीं अपितु पूरे विश्व में परिवर्तन देखने को मिलेगा। वंडर गर्ल जाह्नवी पंवार ने अपनी छोटी सी उम्र की उपलब्धियों एवं सकारात्मकता का संदेश सभी को दिया एवं नौ अलग-अलग भाषाओं के बारे में रोचक जानकारी दी।

यह भी पढ़ें –विज्ञान को गाँवों व ग्रामीण जनमानस तक पहेुँचाने के उद्देश्‍य से सीएसआईआर-सीरी संस्‍थान में राष्‍ट्रीय विज्ञान दिवस का किया गया आयोजन

विश्वविद्यालय के कुलगुरू श्री राज नहेरू ने सभी वक्ताओं का धन्यवाद किया एवं कहा कि जीवन में हमेशा आगे बढ़ने की सोच रखनी चाहिए। आज के समय हर क्षेत्र में लड़कियां बेहतर कार्य कर रही हैं। जहन में यह सोचना रखना यह लड़का है या लड़की गलत है। हमें इस प्रकार की धारणाओं को दूर करना चाहिए एवं किसी प्रकार का फर्क करना गलत है। उन्होंने कहा कि हर रोज ही महिला दिवस है, सबको साथ मिलकर कार्य करना चाहिए।

दिल्ली स्किल एडं एंटरप्रोनरशिप यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रो निहारिका वोहरा ने अपने व्यक्तिगत अनुभव सांझा किये एवं बताया कि महिला होने का मतलब यह कतइ नहीं कि हमें बेहतर अधिकार नहीं हैं। महिलाओं को हर प्रकार के अधिकार मिले हैं, इनका बेहतर कार्यों में प्रयोग करें एवं बेहतर जीवन की कल्पना करें। कुलसचिव प्रो आरएस राठौर ने कहा कि सभी का जीवन जोश, जुनून एवं लक्ष्य से भरा हो। परिस्थितियां जैसी भी हो, अपना लक्ष्य तय करें एवं टारगेट तक जायें। कार्यक्रम की संयोजक डीन प्रो ज्योति राणा ने इस दौरान विश्वविद्यालय के कुलपति श्री राज नेहरू एवं गणमान्य व्यक्तियों का आभार व्यक्त किया। इस दौरान विश्वविद्यालय का सभी शिक्षक, गैरशिक्षक स्टाफ एवं विद्यार्थी मौजूद रहे। कार्यक्रम में मंच संचालन की भूमिका डॉ वैशाली महेशवरी एवं श्रीमती अर्चना ठकरान ने निभाई। आईटी टीम से श्री गणेश एवं श्री प्रवीण ने बेहतर टैक्नीकल कार्य किया एवं डॉ नुकुल एवं डॉ प्रीति ने कॉर्डिनेशन में अपनी बेहतर भूमिका निभाई।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: