Indian NewsUniversity/Central University

सीखे हुए कौशल को प्रयोग में लाना समय की है जरूरत : कुलपति राज नेहरू

एक दिवसीय वेबिनार में अपने विचार व्यक्त करते हुए मुख्य वक्ता कुलपति श्री राज नेहरू

गुरुग्राम : श्री विश्वकर्मा कौशल विश्विद्यालय एवं एलोफिक इंडस्ट्रीज लिमिटेड के सयुंक्त तत्वाधान में आत्मनिर्भर भारत : ऑक्सीजन कंसंट्रेटर विकसित करने में चुनौतियां और अवसर विषय पर वेबिनार किया गया। मुख्य वक्ता कुलपति राज नेहरू ने कहा कि आत्मनिर्भर होना हमारे और देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। वर्तमान में आत्म-जागरूकता की जरूरत है। साथ ही जो कौशल हमने सीखा है उसे वर्तमान समय को देखते हुए समाज के प्रयोग में किस प्रकार से लाना है इस पर कार्य करने की आवश्यकता है। वेबिनार के वक्ता गुजरात प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो नवीन सेठ ने उल्लेख किया कि आत्मनिर्भर होना सभी के लिए मददगार हो सकता है। उन्होंने आत्मनिर्भर भारत की दिशा में युवाओं और छात्रों द्वारा किए गए नवाचारों की सराहना की। जीएनए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो वीके रतन ने कहा कि हमें ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की दिशा में और ज्यादा काम करना चाहिए। आईआईटी जम्मू के सहायक प्रोफेसर डॉ शिव एस ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के तकनीकी पहलुओं को साझा किया। एलोफिक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड के वाईस प्रेसिडेंट कमलेश कौल ने एसवीएसयू के साथ पहले से किए प्रयोग वायु शोधक टावर की परियोजना के बारे में जानकारी दी। वहीं कार्यक्रम के शुरुआत में डीन प्रो. ज्योति राणा ने सभी का स्वागत किया। रजिस्ट्रार प्रो आरएस राठौर ने संबोधन में कहा कि हम आत्मनिर्भरता के मंत्र को अपनाकर कोरोना के दौरान हुई क्षति को पूरा कर सकते हैं। प्रो सुरेश कुमार, डीन इंजीनियरिंग, एसवीएसयू ने संजीवनी परियोजना के बारे में जानकारी दी। वेबिनार के समापन में डॉ अनुज शुक्ला, वैज्ञानिक,आरएंडडी, एलोफिक्स एवं डॉ प्रीति, सहायक प्रो एसवीएसयू ने वेबिनार में शामिल हुए सभी गणमान्य अतिथियों, वक्ताओं, संकायों के डीन, अधिकारियों, प्रोफेसर, विद्यार्थियों आदि का धन्यवाद किया।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: