Sports

नीरज चोपड़ा ने अपना गोल्ड मेडल मिल्खा सिंह को किया समर्पित, कहा- ये जीत अविश्वसनीय

नीरज ने कहा कि कहा कि यह पहली बार है जब भारत ने एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीता है यह अविश्वसनीय लगता है। हमारे यहां अन्य (व्यक्तिगत) खेलों में सिर्फ एक स्वर्ण है। यह काफी लंबे समय के बाद हमारा पहला ओलिंपिक (स्वर्ण) पदक है।

टोक्यो। नीरज चोपड़ा ने भारत की ओर से दूसरी और एथलेटिक्स से पहली बार व्यक्तिगत स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतकर 130 करोड़ भारतीयों का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया। उन्होंने इस एतिहासिक जीत के बाद अपना गोल्ड मेडल पूर्व धावक मिल्खा सिंह को समर्पित कर दिया। उन्होंने कहा कि, ‘मैं यह पदक मिल्खा सिंह को समर्पित करता हूं। वह चाहते थे कि कोई भारतीय एथलेटिक्स में ओलिंपिक पदक जीते। काश वह आज जिंदा होते और मुझे देख पाते।

उन्होंने कहा कि, यह पहली बार है जब भारत ने एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीता है, इसलिए मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। यह अविश्वसनीय लगता है। हमारे यहां अन्य (व्यक्तिगत) खेलों में सिर्फ एक स्वर्ण है। यह काफी लंबे समय के बाद हमारा पहला ओलिंपिक (स्वर्ण) पदक है। यह मेरे और मेरे देश के लिए गर्व का क्षण है। क्वालीफिकेशन राउंड में मैंने बहुत अच्छा थ्रो किया, इसलिए मुझे पता था कि मैं फाइनल में बेहतर कर सकता हूं। (लेकिन) मुझे नहीं पता था कि यह स्वर्ण होगा, लेकिन मैं बहुत खुश हूं। मैं आज अपना सर्वश्रेष्ठ देने आया था और मैंने ऐसा ही किया।

यह भी पढ़ें – नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, जैवलिन थ्रो में देश के लिए पहली बार ओलिंपिक में जीता ‘गोल्ड मेडल’

नीरज चोपड़ा ने भारत को ओलिंपिक इतिहास का दसवां स्वर्ण पदक दिलाया। भारत ने ओलिंपिक में आठ स्वर्ण पदक पुरुष हाकी में जीते हैं, जबकि निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने भारत को पहला व्यक्तिगत ओलिंपिक स्वर्ण पदक दिलाया था। वहीं भारत ने टोक्यो ओलिंपिक में 7 पदकों के साथ भारत ने ओलिंपिक इतिहास का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। इससे पहले भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2012 लंदन ओलिंपिक में था, जब उसने दो रजत और चार कांस्य के साथ कुल छह पदक जीते थे।

आपको बता दें कि, नीरज चोपड़ा को 2018 में अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था। वह 2016 से भारतीय सेना में कार्यरत हैं और फिलहाल सेना की राजपूताना राइफल्स यूनिट में सूबेदार के पद पर हैं। उन्हें 2020 गणतंत्र दिवस समारोह में विशिष्ट सेवा मेडल (वीएसएम) से सम्मानित किया गया था। वीएसएम भारत सरकार द्वारा सशस्त्र बलों के सभी रैंकों के कर्मियों के लिए विशिष्ट आदेश पर की जाने वाली असाधारण सेवा के लिए दिया जाने वाला सम्मान है। इसे देश के राष्ट्रपति प्रदान करते हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: