NewsSchool Corner

उत्तर प्रदेश में एक सितंबर से खुलेंगे कक्षा एक से पांच तक के सभी स्कूल, आदेश जारी

उत्तर प्रदेश में सरकार ने 23 अगस्त से जूनियर हाईस्कूलों में कक्षा छह से आठ तक की पढ़ाई शुरू करने की घोषणा के बाद एक सितंबर से कक्षा एक से पांच तक के सभी बोर्डों के प्राथमिक स्कूल खोलने का आदेश जारी कर दिया है।

लखनऊ। कोरोना संक्रमण की वजह से प्रभावित शिक्षा व्यवस्था अब फिर पटरी पर तेजी से लौटने लगी है। उत्तर प्रदेश में सरकार ने 23 अगस्त से जूनियर हाईस्कूलों में कक्षा छह से आठ तक की पढ़ाई शुरू करने की घोषणा के बाद एक सितंबर से कक्षा एक से पांच तक के सभी बोर्डों के प्राथमिक स्कूल खोलने का आदेश जारी कर दिया है। राज्य में 16 अगस्त से ही माध्यमिक, उच्च, प्राविधिक और व्यावसायिक शिक्षण संस्थानों में 50 फीसद क्षमता के साथ क्लास शुरू कर दी गई हैं।

उत्तर प्रदेश में कक्षा एक से पांच तक के स्कूल एक सितंबर से खुलेंगे। कक्षा छह से आठ तक के स्कूलों में भी रक्षाबंधन के बाद 23 अगस्त से पढ़ाई शुरू होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्कूल खोले जाने के निर्देश के बाद बुधवार को शासन ने आदेश जारी कर दिए हैं। राज्य सरकार ने इन संस्थानों में 50 फीसद क्षमता व दो पालियों में पढ़ाई करवाने के निर्देश दिए हैं। यह आदेश सभी बोर्ड के स्कूलों में पर लागू होगा। मुख्यमंत्री ने प्राइमरी से लेकर माध्यमिक शिक्षा तक के संस्थान कोरोना संक्रमण बढ़ जाने के कारण होली के बाद बंद कर दिए गए थे।

यह भी पढ़ें – आईआईटी मद्रास ने सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय से मिलाया हाथ, इस फील्ड में करेंगे रिसर्च

माध्यमिक शिक्षा के स्कूल पिछले वर्ष लॉकडाउन के बाद अक्तूबर, 2020 और प्राइमरी व जूनियर के संस्थान इसी वर्ष फरवरी व मार्च में खोले गए थे, लेकिन कोविड संक्रमण की दूसरी लहर के तेजी पकड़ते ही इन्हें बंद कर दिया गया था। उच्च शिक्षा में स्नातक व परास्नातक द्वितीय वर्ष की कक्षाएं 16 अगस्त से शुरू हो चुकी हैं। स्नातक प्रथम वर्ष की कक्षाएं एक सितंबर से और स्नातक तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष की कक्षाएं 13 सितंबर से चलेंगी।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के उच्च व माध्यमिक शिक्षा संस्थानों में सोमवार से पढ़ाई शुरू हो गई है। शैक्षिक सत्र में पहली बार कक्षाओं में पढ़ने वालों की संख्या कम जरूर रही लेकिन, कालेज परिसर लंबे समय बाद गुलजार नजर आए। छात्र-छात्राओं से लेकर शिक्षक व कर्मचारी तक कोविड-19 से बचने के लिए मास्क पहने थे और शारीरिक दूरी का भी पालन किया। शारीरिक दूरी को ध्यान में रखकर हर कक्षा के छात्र-छात्राओं को 50-50 प्रतिशत दोनों पालियों में बुलाया गया था लेकिन, उपस्थिति काफी कम रही। यह जरूर है कि पढ़ाई शुरू हो गई है। माध्यमिक कालेजों में कक्षाएं दो पालियों में चली तो महाविद्यालयों में पढ़ाई के साथ प्रवेश कार्य भी शुरू हो गया।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: