Indian NewsUniversity/Central University

इन छात्रों के लिए कल से खुलेगा जेएनयू कॉलेज कैंपस, देखें जरूरी गाइडलाइन्स

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) से अनुमति मिलने के बाद जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में परिसर को चरणबद्ध तरीके से खोलने का फैसला लिया है.

नई दिल्ली। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) से अनुमति मिलने के बाद दिल्ली में कॉलेज और स्कूलों के खोलने का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी कड़ी में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में परिसर को चरणबद्ध तरीके से खोलने का फैसला लिया है। कल यानी 6 सितंबर 2021 से यूनिवर्सिटी में पीएचडी के फाइनल ईयर के छात्रों के लिए कैंपस खोल दिए जाएंगे।

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) की ओर से जारी नोटिस के अनुसार, जिन छात्रों को अपनी थीसिस 31 दिसंबर, 2021 को या उससे पहले जमा करनी है, उनके लिए विश्वविद्यालय परिसर को फिर से खोलने का फैसला किया गया है। इसमें 9बी छात्रावास और दिन के छात्र दोनों शामिल हैं। इसके अलावा, सभी पीडब्ल्यूडी पीएच.डी. छात्रों को परिसर में प्रवेश की अनुमति होगी।

 यह भी पढ़ें – IBPS आरआरबी क्लर्क भर्ती के प्रीलिम्स का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक

लाइब्रेरी में 50 फीसदी छात्र आ सकते हैं

यूनिवर्सिटी की ओर से जारी गाइडलाइन्स के अनुसार, डॉ बी आर अम्बेडकर केंद्रीय पुस्तकालय में 50% उपस्थिति के हिसाब से सीटिंग अरेंजमेंट बनाई गई है। साथ ही पुस्तकालय को भी नियमित अंतराल पर सैनिटाइज किया जाएगा। इसके अलावा यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि परिसर में प्रवेश करने वाले छात्रों को COVID-19 RT-PCR की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी, जो 72 घंटों के भीतर कराई गई हो।

ऑनलाइन पढ़ाई

आम छात्रों के लिए मानसून सेमेस्टर पूरा होने तक कक्षाओं से लेकर परीक्षा सब ऑनलाइन मोड से ही पहले ही तरह ही चलेगी। सभी विभाग और उनकी लाइब्रेरी बंद रहेंगी। छात्रों के लिए हाल को सैनिटाइज कराया जाएगा। परिसर में पहुंचने पर, प्रत्येक छात्र को स्व-घोषणा पत्र भरना और जमा करना होगा। साथ ही अन्य छात्रोें के लिए आनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी।

आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट देना अनिवार्य

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी कैंपस करीब छह महीनों (अप्रैल से बंद) के बाद दोबारा खुलने जा रहा है। हालांकि कैंपस गेट पर एंट्री के लिए छात्रों को 72 घंटे पुरानी आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट जेएनयू सिक्योरिटी को दिखाने पर एंट्री मिलेगी। इसके अलावा कंटेनमेंट जोन वाले इलाकों के छात्रों, शिक्षकों व कर्मियों के कैंपस आने पर रोक रहेगी। मॉस्क पहनना अनिवार्य रहेगा। यदि कोई कोविड-19 नियमों का उल्लंघन करता है तो अनुशासनात्मक कार्रवाई, जुर्माने के अलावा आईपीसी (भारतीय दंड संहिता) 166 समेत अन्य कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: