Sports

दबाव, उम्मीद और स्वाभिमान का महामुकाबला, दोनों टीमों की तैयारी है दुरुस्त

दोनों देशों की टीमों ने शनिवार को आइसीसी क्रिकेट अकादमी में एक साथ अभ्यास किया। विराट की टीम ने ग्राउंड-1 तो बाबर आजम की टीम ने ग्राउंड-2 में अभ्यास किया। दोनों मैदान आपस में उतने ही सटे हैं जितनी दोनों देशों की सरहद।

दुबई। आज दुबई अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में दो क्रिकेट टीमों के बीच नहीं, बल्कि दो देशों के 155 करोड़ लोगों के दबाव, उम्मीद और स्वाभिमान के बीच महामुकाबला होगा। रीयल मैड्रिड और बार्सिलोना के बीच होने वाला अल क्लासिको हो या रोजर फेडरर और नोवाक जोकोविक के बीच ग्रास कोर्ट की लड़ाई..जब भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें आपस में भिड़ती हैं तो सब पीछे छूट जाता है।

कभी एक देश रहे भारत और पाकिस्तान अब एक-दूसरे के जानी दुश्मन हैं। मामला चाहे राजनीति, कूटनीति, विदेश नीति का हो या क्रिकेट का, दोनों एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ में लगे रहते हैं। हर मामले की तरह टी-20 विश्व कप में भी भारत अपने पड़ोसी देश से मीलों आगे है। उसने अब तक टी-20 विश्व कप में पांच और वनडे विश्व कप में सात बार पाकिस्तान को हराया है। 135 करोड़ भारतीय चाहते हैं कि रविवार को दुबई में इस बार जीत का रिकार्ड 13-0 हो जाए। वही पाकिस्तान अपना स्वाभिमान बचने उतरेगा।

यह भी पढ़ें – भारत के खिलाफ मुकाबले से एक दिन पहले पाकिस्तान ने किया टीम का ऐलान, देखें किसको मिली जगह

एक जैसा हाल : दोनों देशों की टीमों ने स्वाभिमान के लिए शनिवार को आइसीसी क्रिकेट अकादमी में एक साथ अभ्यास किया। विराट की टीम ने ग्राउंड-1 तो बाबर आजम की टीम ने ग्राउंड-2 में अभ्यास किया। दोनों मैदान आपस में उतने ही सटे हैं जितनी दोनों देशों की सरहद। दोनों देशों की टीमें भी उसी तरह से अभ्यास कर रही थीं जैसे दोनों देशों की सेनाएं करती हैं। दोनों देशों के प्रशंसकों का भी एक जैसा हाल है।

वे चाहते हैं कि टीम विश्व कप जीते या ना जीते, यह मैच जरूर जीते। जहां भारत अपने अजेय रिकार्ड को बरकरार रखने उतरेगा तो वहीं पाकिस्तान चाहेगा कि किसी तरह वह एक बार टीम इंडिया को विश्व कप में हरा दे। यह मैच पाकिस्तान के लिए कितना महत्वपूर्ण है ये इस बात से समझा जाता है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मुखिया ने अपनी टीम से कहा था कि भारत को हराकर आओ, आपके लिए यहां एक ब्लैंक चेक रखा हुआ है।

‘बाहर क्या बातें हो रही हैं इससे टीम पर प्रभाव नहीं पड़ता। हम ऐसी स्थिति में हैं जहां हम अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं और इसके लिए जितना संभव हो सके स्वयं को संतुलित अवस्था में रखना जरूरी है।’

–विराट कोहली, कप्तान, भारत

————–

‘हम काफी टूर्नामेंट खेल चुके हैं, हमने चैंपियंस ट्राफी में भी अच्छा किया था। हम इसे जितना सरल रखेंगे, उतना ही बेहतर होगा। इसमें सिर्फ बेसिक्स पर अडिग रहना होगा और साथ ही शांत चित्त बने रहना होगा।’

–बाबर आजम, कप्तान, पाकिस्तान

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: