NewsSchool Corner

मध्य प्रदेश बोर्ड ने जारी की 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं और प्रैक्टिकल और परीक्षा तिथि

माध्यमिक शिक्षा मण्डल मध्य प्रदेश भोपाल यानि एमपीबीएसई ने हाई स्कूल और हायर सेकेंड्री एवं व्यावसायिक विद्यालय पूर्व शिक्षा में डिप्लोमा (डीपीएसई)/शारीरिक शिक्षा प्रशिक्षण पत्रोपाधि परीक्षाएं वर्ष 2021-22 सत्र के लिए 12 फरवरी 2022 से आयोजित की जाएंगी।

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश बोर्ड से सम्बद्ध राज्य में स्थित सरकारी और निजी स्कूलों में 10वीं और 12वीं कक्षाओं के लाखों छात्र-छात्राओं के लिए महत्वपूर्ण अपडेट। माध्यमिक शिक्षा मण्डल, मध्य प्रदेश, भोपाल यानि एमपीबीएसई ने हाई स्कूल और हायर सेकेंड्री एवं व्यावसायिक, विद्यालय पूर्व शिक्षा में डिप्लोमा (डीपीएसई)/शारीरिक शिक्षा प्रशिक्षण पत्रोपाधि परीक्षाएं वर्ष 2021-22 सत्र के लिए 12 फरवरी 2022 से आयोजित की जाएंगी। बोर्ड द्वारा इन सभी स्टूडेंट्स के लिए सैद्धांतिक परीक्षाओं का आयोजन 20 मार्च 2022 तक किया जाएगा।

दूसरी तरफ, एमपी बोर्ड द्वारा 3 नवंबर 2021 को जारी अपडेट के अनुसार एमपी बोर्ड द्वारा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के साथ ही साथ प्रैक्टिकल एग्जाम के आयोजन की तिथियां भी घोषित कर दी हैं। बोर्ड के नोटिस के अनुसार, प्रैक्टिल एग्जाम 12 फरवरी से 31 मार्च तक आयोजित किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें – दिल्ली विवि में खेल कोटे से दाखिले के लिए छात्रों को मिलेंगे चार दिन, 5 नवंबर तक आपत्ति दर्ज करा सकेंगे

बता दें कि वर्ष 2019-20 और वर्ष 2020-21 की बोर्ड परीक्षाओं के नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन बाधित हुए थे। इस क्रम में बोर्ड द्वारा वर्ष 2021-22 की परीक्षा के लिए जारी तारीखों से सम्बन्धित नोटिस के अनुसार, “लोक स्वास्थ्य एवं लोकहित में वर्ष 2019 और 2020 में नोबल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुये परीक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है।”

NEP 2020 के पैटर्न पर होंगे एग्जाम

इससे पहले, मध्य प्रदेश बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुसार पैटर्न अपनाएं जाने की घोषणा की जा चुकी है। बोर्ड द्वारा हाल ही में जारी 10वीं एवं 12वीं के लिए परीक्षा पद्धति के अनुसार नियमित व प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए प्रैक्टिकल वाले सब्जेक्ट को छोड़कर सभी विषयों के क्वेश्चन पेपर 80 अंक के होंगे। इन विषयों के रेगुलर स्टूडेंट्स के लिए 20 अंक इंटर्नल एसेसमेंट के निर्धारित हैं। हालांकि, पाइवेट स्टूडेंट्स के लिए इंटर्नल एसेसमेंट का प्रावधान नहीं है। वहीं, प्रैक्टिकल वाले सब्जेक्ट के लिए थ्योरी के पेपर 70 अंकों के होंगे और प्रैक्टिकल के 30 मार्क्स होंगे। इनके अतिरिक्त, 10वीं और 12वीं के सभी थ्योरी पेपर में 40 फीसदी ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न होंगे, 40 फीसदी विषय आधारित प्रश्न होंगे और 20 फीसदी एनालिटिकल क्वेश्चन होंगे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: