Indian NewsUniversity/Central University

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी: आज है यूईटी, पीईटी आंसर-की पर आपत्ति दर्ज कराने की आखिरी तारीख

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की यूईटी और पीईटी परीक्षा की प्रोविजनल आंसर-की ऑफिशियल वेबसाइट bhuet.nta.nic.in पर उपलब्ध है।

वाराणसी। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी, एनटीए ने बीएचयू यूईटी, पीईटी आंसर-की 2021 के खिलाफ आपत्तियां उठाने की आखिरी तारीख बढ़ा दी है। दर्ज प्रतिक्रियाओं के साथ प्रोविजनल आंसर-की और प्रश्न पत्र 6 नवंबर, 2021 तक उपलब्ध होंगे और उम्मीदवार आज शाम 7 बजे तक आपत्ति उठा सकते हैं। आंसर-की एनटीए बीएचयू की ऑफिशियल वेबसाइट bhuet.nta.nic.in पर उपलब्ध है. उम्मीदवार इस वेबसाइट से ही आंसर-की डाउनलोड कर सकते हैं।

ऑफिशियल वेबसाइट के अनुसार, आंसर-की को चुनौती देने के लिए फीस का भुगतान करने की आखिरी तारीख 6 नवंबर, 2021 त 11.50 बजे है। जो उम्मीदवार आपत्तियां उठाना चाहते हैं, वे इसे ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से प्रति चुनौती के लिए ₹200/- का भुगतान करके कर सकते हैं. शुल्क का भुगतान वापसी योग्य नहीं है।

यह भी पढ़ें – सीबीएसई टर्म 1 प्रैक्टिकल एग्जाम्स के बारे में बोर्ड ने दी ख़ास जानकारी

ऐसे दर्ज कराएं आपत्ति

स्टेप 1: उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट bhuet.nta.nic.in पर जाएं।
स्टेप 2: वेबसाइट पर दिए गए Challenge Answer Key के लिंक पर क्लिक करें।
स्टेप 3: अब अपना एप्लीकेशन नंबर और पासवर्ड सबमिट करें।
स्टेप 4: अब सवाल पर आपत्ति दर्ज करें।
स्टेप 5: आपत्ति की फीस जमा करें।
स्टेप 6: अब आपकी आपत्ति सबमिट हो जाएगी।

कब जारी होगा रिजल्ट?

आंसर-की पर दर्ज सभी आपत्तियों की जांच के बाद एनटीए फाइनल आंसर-की तैयार करेगा। सभी आपत्तियों को सब्जेक्ट एक्सपर्ट चेक करेंगे। जो आपत्ति सही पायी जाएगी, उसके अनुसार आंसर-की में बदलाव किया जाएगा। फिर इसी के आधार पर बीएचयू यूईटी रिजल्ट और बीएचयू पीईटी रिजल्ट बनाया जाएगा। हालांकि बीएचयू प्रवेश परीक्षा परिणाम 2021 की डेट को लेकर एनटीए ने कोई निश्चित घोषणा नहीं की है। लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि नवंबर 2021 के मध्य तक नतीजे जारी कर दिये जाएंगे।

बता दें कि एनटीए द्वारा बीएचयू एडमिशन के लिए यूजी व पीजी एंट्रेंस एग्जाम्स का आयोजन 28 से 30 सितंबर 2021 और फिर 01, 03 और 04 अक्टूबर 2021 को किया गया था। परीक्षा हाइब्रिड मोड पर ली गई. यानी कैंडिडेट्स को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से एग्जाम देने का विकल्प दिया गया था।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: