NewsSchool Corner

सीबीएसई टर्म 1 प्रैक्टिकल एग्जाम्स के बारे में बोर्ड ने दी ख़ास जानकारी

सीबीएसई क्लास 10 और 12 प्रैक्टिकल एग्जाम, इंटरनल असेसमेंट व प्रोजेक्ट वर्क को लेकर बोर्ड ने अहम निर्देश जारी किये हैं.

नई दिल्ली। सीबीएसई टर्म 1 प्रैक्टिकल परीक्षा कब होगी? सीबीएसई क्लास 10 और क्लास 12 इंटरनल असेसमेंट्स और प्रोजेक्ट वर्क कब सबमिट करने होंगे? सीबीएसई टर्म 1 एग्जाम 2021-22 के साथ बोर्ड ने इस संबंध में भी अहम जानकारी दी है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने एक नोटिफिकेशन जारी किया है। इसमें टर्म 1 परीक्षा के रोल नंबर से लेकर, एग्जाम सेंटर्स और सभी विषयों तक की डीटेल दी गई है।

इस नोटिफिकेशन में सीबीएसई ने कहा है कि बोर्ड द्वारा 05 जुलाई 2021 को जारी सर्कुलर के अनुसार सभी स्कूलों को प्रैक्टिकल, इंटरनल असेसमेंट और प्रोजेक्ट वर्क इस तरह से संचालित करने हैं, कि 23 दिसंबर 2021 तक सभी के मार्क्स अपलोड कर दिये जाएं। स्कूल्स 23 दिसंबर 2021 तक भी प्रैक्टिकल, इंटरनल और प्रोजेक्ट एग्जाम ले सकते हैं। ध्यान रहे कि जिस दिन ये परीक्षा होगी, उसी दिन सीबीएसई के पोर्टल पर मार्क्स अपलोड करने हैं।

यह भी पढ़ें – जानिए कैसे सेमीफाइनल में पहुंच सकती है भारतीय टीम, पाकिस्तान के साथ हो सकता है मुक़ाबला

अगर मार्क्स अपलोड नहीं हुए तो क्या होगा?

अगर स्कूल्स 23 दिसंबर 2021 तक सभी विषयों के प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट और इंटरनल के मार्क्स सीबीएसई पोर्टल पर अपलोड नहीं करते हैं, तो बोर्ड ने इसपर सख्त कदम उठाने की बात कही है। जो स्कूल ऐसा करने में विफल होते हैं, उनके खिलाफ निम्न कार्रवाई की जा सकती है-

बोर्ड टर्म-1 प्रैक्टिकल, इंटरनल और प्रोजेक्ट के मार्क्स के बिना ही उस स्कूल/ स्टूडेंट्स का रिजल्ट जारी करेगा।
उस स्कूल / स्टूडेंट्स का पूरा बोर्ड रिजल्ट सिर्फ सीबीएसई टर्म 2 परीक्षा के आधार पर जारी किया जा सकता है।
लास्ट डेट के बाद मार्क्स सबमिट करने पर संबंधित स्कूल पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।
स्कूल की मान्यता रद्द करने की कार्रवाई भी शुरू की जा सकती है।
सीबीएसई द्वारा टर्म 1 परीक्षा के लिए उस स्कूल में कोई एक्सटर्नल नियुक्त नहीं किया जाएगा। उन्हें अपने संबंधित स्कूल टीचर से ही प्रैक्टिकल असेसमेंट पूरा कराना होगा।
स्कूल को खुद के आंसर शीट्स का प्रयोग करना होगा और फिर उन्हें सुरक्षित रखना होगा।

बोर्ड द्वारा दा गई जानकारी के अनुसार, वर्तमान में भारत में 26 हजार स्कूल्स सीबीएसई से मान्यता प्राप्त हैं। विदेशों में सीबीएसई मान्यता प्राप्त 26 स्कूल संचालित किये जा रहे हैं। बोर्ड ने कहा है कि एग्जाम सेंटर इस तरह से तय किये जाने की कोशिश है कि स्कूल्स और स्टूडेंट्स को कोई दिक्कत न आये।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: