Indian NewsNewsSchool Corner

पीएम मोदी ने की सभी विद्यार्थियों से की अपील, ‘परीक्षा पे चर्चा’ के लिए कराएं रजिस्ट्रेशन

'परीक्षा पे चर्चा' के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के लिए पीएम मोदी ने अपील की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं. ऐसे में स्ट्रेस फ्री परीक्षा को लेकर चर्चा करेंगे. जल्द से जल्द रजिस्ट्रेशन कराएं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से परीक्षा पे चर्चा 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन करने का आग्रह किया है। पीएम ने ट्वीट कर कहा है कि परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं। आइए तनाव मुक्त परीक्षाओं की बात करें और एक बार फिर हमारे बहादुर एग्जाम वॉरियर और उनके माता-पिता और शिक्षकों का समर्थन करें। मैं आप सभी से इस वर्ष Pariksha Pe Charcha 2022 के लिए पंजीकरण करने का आग्रह करता हूं। इससे पहले धमेंद्र प्रधान ने परीक्षा पे चर्चा के लिए रजिस्ट्रेशन करने को लेकर अर्ज किया था।

परीक्षा पे चर्चा एक ऐसा कार्यक्रम है जहां पीएम मोदी बोर्ड परीक्षा से पहले छात्रों के साथ बातचीत करते हैं और परीक्षा के तनाव और अन्य संबंधित मुद्दों के बारे में उनके प्रश्नों का समाधान करते हैं। परीक्षा पे चर्चा प्रतिवर्ष आयोजित की जाती है, इच्छुक छात्र, अभिभावक और शिक्षक इस कार्यक्रम के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। इस कार्यक्रम में केवल कक्षा 9 से 12 तक के छात्र ही भाग ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें – इग्नू द्वारा लॉन्च किया गया जर्नलिज्म ऑनलाइन कोर्स, 31 जनवरी तक कर सकते हैं आवेदन

मंत्रालय के अनुसार, इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए छात्र, शिक्षक एवं अभिभावक माईजीओवी वेबसाइट पर ‘परीक्षा पे चर्चा 2022’ खंड में पंजीकरण करा सकते हैं। इस पर प्रतियोगिता के आधार पर 2050 छात्र, शिक्षक एवं अभिभावकों का चयन किया जाएगा और इन्हें ‘परीक्षा पे चर्चा’ किट भी भेंट की जाएगी। रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 28 दिसंबर से शुरू है। परीक्षा पे चर्चा के लिए पंजीकरण करने की अंतिम तिथि 20 जनवरी, 2022 है।

रिपोर्ट के मुताबिक,पिछले साल 2.62 लाख शिक्षकों और 93,000 अभिभावकों ने भी ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। कोरोना महामारी को देखते हुए पिछले साल परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित की गई थी। ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम के जरिए पीएम मोदी हर साल छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद करते हैं। पिछले साल परीक्षा पे चर्चा 7 अप्रैल को हुई थी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: