Indian NewsUniversity/Central University

ट्रेंडिंग में प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी, रिहाई की मांग को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय में आज होगा प्रदर्शन

ज्ञानवापी मस्जिद शिवलिंग प्रकरण

नई दिल्ली : ज्ञानवापी मस्जिद मामले में शिवलिंग पर अभद्र और अश्लील टिप्पणी करने के आरोप में दिल्ली विश्वविद्यालय, हिंदू कॉलेज के इतिहास विभाग के प्रोफेसर रतन लाल को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनकी इस गिरफ्तारी के बाद से उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया पर रिलीज रतनलाल अभियान शुरू कर दिया है। उनकी गिरफ्तारी ट्विटर पर ट्रेंड कर रही है। उनके समर्थक #release Ratanlal से अभियान चला रहे हैं तो वही बाकी लोग उनकी गिरफ्तारी को सही ठहराते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। उनके साथ -साथ बाकी टिप्पणी करने वालों को भी गिरफ्तार करने की मांग शुरू हो गई है।

यह लगी धाराएं
रतन लाल के खिलाफ साइबर पुलिस स्टेशन उत्तरी दिल्ली में एफ आई आर दर्ज की गई थी। उनके ऊपर इंडियन पीनल कोड की धारा 153 A और 295A के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। उन्होंने शिवलिंग की फोटो के साथ अशोभनीय टिप्पणी करते हुए फेसबुक पर शेयर किया था। इसके बाद से ही उनके खिलाफ गिरफ्तारी की मांग को लेकर अभियान शुरू हो गया था।

दूरदर्शन के सलाहकार संपादक ने लिखा डीयू में पढ़ा रहे रतनलाल जैसे बेशर्म प्रोफेसर
दूरदर्शन समाचार के सलाहकार संपादक अशोक श्रीवास्तव ने प्रोफेसर रतन लाल की टिप्पणी के बाद ट्वीट किया था। उन्होंने लिखा था- “यह कितना भयावह है कि दिल्ली विश्वविद्यालय जैसे संस्थान में रतनलाल जैसे बेशर्म प्रोफ़ेसर पढ़ा रहे हैं। इससे बड़ी शर्म की बात यह है कि यह दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज में पढ़ा रहा है।” उन्होंने इस बेहूदा टिप्पणी के लिए गिरफ्तार करने की मांग को लेकर दिल्ली पुलिस को ट्वीट किया था।

आइसा ने आर्ट फैकल्टी में किया है प्रदर्शन का आह्वान
एआईएसए (आइसा )की ओर से दिल्ली विश्वविद्यालय के आर्ट फैकल्टी में प्रदर्शन का आह्वान किया गया है। प्रोफेसर रतन लाल की रिहाई को मांग को लेकर आज सुबह 11:00 बजे प्रदर्शन डेमो होगा। ए आई एस ए की ओर से इसे डेमो नाम दिया गया है। यानी अभी यह डेमो है। रिहाई नहीं हुई तो प्रदर्शन जोरदार करेंगे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: you can not copy this content !!
%d bloggers like this: