फीस माफी के लिए मुख्यमंत्री का फूंका पुतला, पुलिस ने सछास कार्यकर्ताओं को खदेड़ा, भांजीं लाठियां

Author

Global User

Shringesh Kumar Dixit

Date :

करंजाकला(जौनपुर)। कोरोना लॉक डाउन के दौरान विद्यालय बंद रहने के बाद भी छात्रों से वसूल की जा रही फीस के विरोध में समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं ने सिद्धीकपुर चौराहे पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। उनको पुतला फूंकने से रोकने के लिए पुलिस ने लाठी भांजीं और खदेड़ दिया।

यह भी पढ़ें – बिहार छात्र संघ ने बाढ़ पीड़ितों को बांटी राहत सामग्री

समाजवादी छात्र सभा कार्यकर्ता फीस माफी अभियान के तहत विरोध करने सिद्दीकपुर चौराहे पहुंचे। वहां वे मुख्यमंत्री का पुतला फूंकने लगे। इसकी जानकारी होने पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी पहुंच गए। उन्होेंने लाठियां भांजकर विरोध प्रदर्शन करने वालों को खदेड़ दिया। नो फीस केजी टू पीजी अभियान का नेतृत्व पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष दिलीप प्रजापति और अजीत यादव बाबा ने किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चार महीने से लॉक डाउन के चलते स्कूल-कॉलेज बंद हैं। इसके बावजूद स्कूल प्रशासन द्वारा मनमाने ढंग से फीस के लिए अभिभावकों पर दबाव बनाया जा रहा है। सिरोहित यादव, शिवम राय, राहुल चौबे, विपिन, हिमांशु आदि मौजूद रहे।