ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में बनी कोरोना वैक्सीन का गोरखपुर में होगा ट्रायल

Author

Global User

Shringesh Kumar Dixit

Date :

गोरखपुर। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में बनी वैक्सीन का ट्रॉयल गोरखपुर में होगा। बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज व क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र (आरएमआरसी) मिलकर इसकी उपयोगिता की पड़ताल करेंगे। इसकी निगरानी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) करेगा। बीआरडी में ट्रायल की पूरी व्यवस्था व मानकों की जांच करने के बाद सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया वैक्सीन उपलब्ध कराएगा। ट्रायल सफल होने के बाद कोरोना की रोकथाम में मदद मिलेगी।

ट्रायल को लेकर सीरम इंस्टीट्यूट से चल रही वार्ता

आसीएमआर के प्लानिंग को-आर्डिनेटर व आरएमआरसी के निदेशक डॉ रजनीकांत ने बताया कि ट्रायल को लेकर सीरम इंस्टीट्यूट से वार्ता चल रही है। एक माह के अंदर ट्रायल शुरू होने की उम्मीद है। इसके पूर्व भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई वैक्सीन को देश 12 सेंटरों पर ट्रायल करने का निर्णय लिया गया है। इसमें एक सेंटर गोरखपुर का राणा हॉस्पिटल भी है, लेकिन अभी तक यहां वैक्सीन नहीं पहुुंची है। इसलिए उसका अभी तक यहां पर कोई परीक्षण नहीं हो पाया।

यह भी पढ़ें – HRD मंत्री ने प्रमुख संस्थानों में सीट क्षमता को बढ़ने को लेकर अधिकारियों को दिये निर्देश

हालांकि राणा हॉस्पिटल वैक्‍सीन का इंतजार कर रहा है। अब आक्सफोर्ड के वैक्सीन के ट्रायल की उम्मीद जगी। यह ट्रायल भी देश के कई मेडिकल कॉलेजों में किया जाएगा। शुरुआत में परिणाम बेहतर आने पर इसका ट्रायल 18 से 55 साल की उम्र के लोगों पर किया जाएगा।

ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन का ट्रॉयल अभी तक रहा है सफल

डॉ. रजनीकांत ने बताया कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन पर अभी तक जो ट्रायल हुए हैं, वे सभी सफल रहे हैं। इसका बेहतर इम्यून रिस्पांस मिला है। अच्‍छी बात यह है कि साइड इफेक्ट बहुत कम थे, जो साधारण दवाओं से ठीक हो गए हैं। यहां भी इसके परिणाम बेहतर आने की उम्मीद है।

कोरोना महामारी की रोकथाम में मिलेगी मदद

आरएमआरसी के मीडिया प्रभारी डॉ. अशोक कुमार पांडेय ने बताया कि वैक्सीन पर ट्रायल सफल होने के बाद कोरोना की रोकथाम में मदद मिलेगी। हमारी लैब तैयार है। आइसीएमआर की हरी झंडी मिलते ही बीआरडी के साथ इस वैक्सीन पर ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा।