Indian NewsUniversity/Central University

जेएनयू, बीएचयू, डीयू जैसे केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक प्रवेश के लिए होगी संयुक्त प्रवेश परीक्षा

अप्रैल के प्रथम सप्ताह से शुरू होगा आवेदन, जुलाई में परीक्षा

नई दिल्ली : एक देश एक परीक्षा के अभियान के कदम लगातार बढ़ रहे हैं। इसी कड़ी में अब केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए इस साल से पूरे देश में एक साथ संयुक्त प्रवेश परीक्षा (CUET) आयोजित की जाएगी। जेएनयू, दिल्ली विश्वविद्यालय, बीएचयू, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, एएमयू आदि इस तरह के 45 विश्वविद्यालय हैं। शिक्षा मंत्रालय के निर्देश पर राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA)और यूजीसी ने तैयारी पूरी कर ली है। इसी साल अप्रैल के प्रथम सप्ताह में प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन शुरू हो जाएंगे। जुलाई में परीक्षा आयोजित होगी।

मंगलवार को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी-UGC) ने इस तरह की परीक्षा के बारे में जानकारी सार्वजनिक की। इसे विश्वविद्यालय संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीयूईटी-CUET) नाम दिया गया है। यूजीसी के सचिव की ओर से जारी सार्वजनिक सूचना के अनुसार यह प्रवेश परीक्षा यूजीसी की ओर से वित्त पोषित सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के लिए होगी। यह परीक्षा शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए होगी। यह परीक्षा देश की 13 भाषाओं में होगी।
इन 13 भाषाओं में होगी संयुक्त प्रवेश परीक्षा
1. हिंदी
2.मराठी
3. गुजराती
4. तमिल
5. तेलगू
6. कन्नड़
7. मलयालम
8. उर्दू
9. असमिया
10. बंगाली
11. पंजाबी
12. ओड़िया
13. अंग्रेजी
पीजी के लिए भी चल रही तैयारी
यूजीसी ने जानकारी दी है कि जिस तरह से स्नातक के लिए इस तरह की परीक्षा कराई जा रही है उसी तरह से पीजी के लिए भी परीक्षा कराने की तैयारी चल रही है। विश्वविद्यालयों ने इसके लिए सहमति दे भी दी है। यूजीसी जल्द ही पीजी के लिए प्रवेश परीक्षा के लिए सूचना जारी करेगा।
इस तरह से बदल गई है नई व्यवस्था
-केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा होगी
-प्रवेश परीक्षा के अंक ही प्रवेश की योग्यता तय करेंगे
-कंप्यूटर आधारित बहुविकल्पीय प्रश्नों मल्टीपल च्वाइस आधार पर परीक्षा होगी।
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: