गढ़वाल विवि परीक्षा के विरोध में धरने पर बैठे छात्रों को पुलिस ने उठाया, थाने लाकर छोड़ा

Author

Global User

Shringesh Kumar Dixit

Date :

गढ़वाल। गढ़वाल विवि में अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा माध्यम के विरोध में धरने पर बैठे बिड़ला परिसर के छात्रसंघ पदाधिकारी छात्रों को पुलिस ने धरना स्थल से उठाया और थाने लाकर छोड़ दिया। छात्रों द्वारा धरना देने से पहले विवि के मुख्य नियंता प्रो. अरुण बहुगुणा ने छात्रों को समझाने की कोशिश की, लेकिन छात्र नहीं माने। मुख्य नियंता प्रो. बहुगुणा ने बताया कि विवि की कुलपति प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने मंगलवार को छात्र प्रतिनिधियों से मुलाकात का वक्त दिया था।

यह भी पढ़ें –  DSPMU छात्रसंघ ने विवि गेट पर ताला जड़ ऑफलाइन परीक्षा का किया विरोध 

छात्रसंघ अध्यक्ष अंकित रावत और उपाध्यक्ष अनमोल भंडारी के नेतृत्व में छात्र गढ़वाल विवि के प्रशासनिक भवन के दूसरे गेट पर धरने पर बैठे। उन्होंने कहा छात्रसंघ के पदाधिकारी पिछले चार माह से कुलपति से वार्ता करने के लिए भटक रहे हैं, लेकिन कुलपति उनको मिलने का समय नहीं दे रही है।
उन्होंने कहा कि एक ओर लगातार कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं, वहीं विवि परीक्षा आयोजित कर छात्रों और स्थानीय निवासियों की जान खतरे में डाल रहा है। छात्र संघ पदाधिकारियों ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में खतरे को देखते हुए मकान मालिक छात्रों को अपने कमरे में नहीं आने देंगे।

उन्होंने अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा निरस्त करने और असाइमेंट व इंटरनल असेसमेंट के आधार पर उत्तीर्ण करने की मांग की। धरने में सुधांशु थपलियाल, पुनीत अग्रवाल, आयुष कंडारी, दीपक बिष्ट, रजत रावत, लक्की बिष्ट व विकास रावत बैठे।