ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की कोरोना वैक्सीन सुरक्षित, प्रतिरोधक प्रतिक्रिया भी करती है उत्पन्न

Author

Global User

Shringesh Kumar Dixit

Date :

लंदन। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित कोरोनावायरस वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और शरीर के भीतर एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को भी उत्पन्न करती है। इसके शोध में लगे वैज्ञानिकों ने मानव परीक्षण के पहले चरण के बाद मंगलवार को यह घोषणा की।

नैदानिक ​​परीक्षण के पहले चरण के तहत अप्रैल और मई में ब्रिटेन के 5 अस्पतालों में 18 से 55 वर्ष की आयु के 1077 स्वस्थ वयस्कों को वैक्सीन की खुराक दी गई थी और उनके परिणाम चिकित्सा पत्रिका ‘लांसेट’ में प्रकाशित किए गए हैं।

यह भी पढ़ें – विदेशी छात्रों के वीजा नियमों से संबंधित अमेरिकी फैसले पर भारत ने जाहिर की चिंता

परिणाम बताते हैं कि जिनको टीके लगाए गए, उनमें 56 दिनों तक मजबूत एंटीबॉडी और टी-सेल प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाएं उत्पन्न हुईं। सालों तक वायरस से सुरक्षित रखने के लिए टी-सेल महत्वपूर्ण हैं। निष्कर्षों को आशाजनक माना जा रहा है, लेकिन विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यह पता लगाना बहुत जल्दबाजी होगी कि क्या यह सुरक्षा प्रदान करने में पूरी तरह से सक्षम है क्योंकि बड़े स्तर पर अभी भी परीक्षण चल रहे हैं।

शोध की सह-लेखिका प्रोफेसर सारा गिल्बर्ट ने कहा, इससे पहले कि हम यह पुष्टि कर सकें कि हमारी वैक्सीन कोविड-19 महामारी से निपटने में मदद करेगी, अभी भी बहुत काम किया जाना बाकी है, लेकिन ये शुरुआती नतीजे उम्मीद पैदा कर रहे हैं।